नेहरू पार्क में 4 ठीक हुए तो अगले दिन 3 और हुए कोरोना पॉजिटिव, तीनों का सब्जीमंडी के व्यापारियों से ही संबंध

  • झज्जर में कोरोना पॉजिटिव का कुल आंकड़ा पहुंचा 88, 25 ठीक होकर जा चुके घर, 63 का चल रहा इलाज
  • अकेले बहादुरगढ़ में ही 77 हो चुके हैं कोरोना पॉजिटिव

बहादुरगढ़. शहर के नेहरू पार्क इलाके में फिर तीन नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। बुधवार को यहां के लोगों ने राहत की सांस ली थी कि चार लोग ठीक होकर लौट आए हैं, लेकिन गुरुवार को 3 नए केस आने से एक बार फिर लोगों में मायूसी आ गई। तीन नए मामलों में से दो का एक आढ़ती के परिवार से ही संबंध रहा है तो तीसरा भी यहां रहने वाले किसी सब्जी विक्रेता का ही बेटा है। अब फिर से यहां इन लोगों के संपर्क में आने वालों की जांच होगी। बहादुरगढ़ में अब तक 77 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं, लेकिन इनमें से अब तक 15 लोग रोहतक स्थित पीजीआईएमएस से उपचार के बाद घर लौटे चुके हैं। झज्जर जिले की बात करें तो कुल 88 केस हो चुके हैं। इनमें से 25 ठीक होकर घर लौटे हैं। झज्जर में 11 में से 10 लोग ठीक हो चुके हैं। अब 63 लोगों का इलाज चल रहा है। बहादुरगढ़ में निकले अधिकतर केस का जुड़ाव सब्जीमंडी से रहा है।
दवा व दूध विक्रेताओं के भी लिए जाएंगे सैंपल
अब केमिस्टों को भी जांच के दायरे में लिया जा रहा है। सभी दवा विक्रेताओं के भी सैंपल लेकर जांच की जाएगी। अभी चुनिंदा सैंपल ही विभाग द्वारा लिए जा रहे हैं। जिनके संक्रमण की चपेट में आने की संभावना है या फिर जो संक्रमित लोगों के परिवार या संपर्क से हैं, उन्हीं के सैंपल लिए जा रहे हैं। दवा विक्रेताअों के इन दिनों हजारों लोगों से संपर्क रहा है वहीं दूध बेचने वालों का भी हजारों लोगों से संपर्क रहा। इस कारण सभी दूध विक्रेताओं के साथ ही दवा विक्रेताओं के भी सैंपल लिए जाएंगे।

अहरी गांव से लिए गए सभी सैंपल समेत 42 की रिपोर्ट आई निगेटिव

जिले भर से बुधवार को लिए गए कोरोना सैंपल के सभी 42 लोगों की रिपोर्ट गुरुवार देर सायं निगेटिव आई है। इसमें अहरी गांव के दिल्ली पुलिस के कोरोना संक्रमित जवान के 9 परिजन के भी सैंपल लिए गए थे और उन सभी की रिपोर्ट भी निगेटिव ही है। इसमें संक्रमित जवान का भाई जो दिल्ली पुलिस में ही कार्यरत है उसकी रिपोर्ट भी निगेटिव है।
हड्डी, ईएनटी और नेत्र राेग विभाग की ओपीडी शुरू

बहादुरगढ़ सिविल अस्पताल में लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के कारण प्रभावित हुई ओपीडी सेवा शुरू करने के कारण अब हड्डी, ईएनटी और नेत्र विभाग में मरीजों की जांच का काम भी शुरू हो चुका है। इसके साथ-साथ बाल रोग, मेडिसिन, स्त्री एवं प्रसूति विभाग, सामान्य सर्जरी, फ्लू क्लीनिक की सेवाएं पहले से चल रही हैं। लॉकडाउन की शुरुआत से ही कुछ जरूरी विभागों को छोड़कर बाकी ओपीडी सेवाओं को बंद कर दिया गया था वैसे इसके साथ साथ इमरजेंसी केसों के लिए अस्पताल में सेवाएं 24 घंटे चलती हैं। उम्मीद है कि जल्द ही दंत रोग और त्वचा रोग की ओपीडी सेवाएं शुरू हो जाएंगी।

इस बारे में बहादुरगढ़ सिविल अस्पताल के पीएओ डाॅ. संजय दहिया ने बताया कि जरूरी सेवाओं की ओपीडी पहले से ही चल रही थी। अब तीन विभागों की ओपीडी और शुरू की गई है। सभी विभागों की ओपीडी भी हालात सामान्य होने पर शुरू की जाएगी।

जिले में पॉजिटिव केस मिलने की दर 2.5 तो ठीक होने वाले मरीजों की 28.4 प्रतिशत

जिले के लिए कोविड-19 मामले में राहत की बात यह है कि यहां पॉजिटिव केस मिलने से ज्यादा मरीजों के ठीक होने का अनुपात तेजी से बढ़ रहा है। जिले में पॉजिटिव केस मिलने का प्रतिशत 2.5 है तो ठीक होने वाले मरीजों की मरीजों का ग्राफ 28.4 प्रतिशत पर चल रहा है। जिले में कुल 88 पॉजिटिव के सामने आ चुके हैं जिनमें से 25 की रिपोर्ट अब निगेटिव आ गई। जिले में अब तक 3577 लोगों के कोरोना वायरस सैंपल लिए गए हैं इनमें से 3398 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। महज 88 केस पॉजिटिव मिले इनमें से भी 25 लोग रोहतक पीजीआई से ठीक हो कर घर वापसी कर चुके हैं। अब 91 सैंपल की रिपोर्ट का और इंतजार है।

जिले में जितने भी पॉजिटिव के आए हैं वे सभी झज्जर और बहादुरगढ़ सब्जी मंडी से अधिकांश जुड़े रहे हैं। आजादपुर सब्जी मंडी का कनेक्शन झज्जर से जुड़ा होने के बाद ही स्वास्थ्य विभाग ने झज्जर और बहादुरगढ़ की सब्जी मंडी से रेंडम सैंपल लिए थे यह करीब 1442 थे और इन्हीं में से केस निकल के आए जिनमें झज्जर सब्जी मंडी से कुल 11 केस सामने आए जिनमें से 10 पॉजिटिव मरीज ठीक हो कर घर भी लौट चुके हैं जबकि बाकी सभी केस बहादुरगढ़ सब्जी मंडी के रहे हैं। जिले भर में कुल 1861 रेंडम सैंपल ले चुकी है इनमें स्वास्थ्य कर्मचारी, पुलिस कर्मचारी, सफाई कर्मचारी के अलावा इमरजेंसी में ड्यूटी दे रहे अन्य लोग शामिल हैं। जिला सिविल सर्जन अधिकारी डॉ. आरएस पुनिया का कहना है कि रेंडम सैंपल लिए जाने की प्रक्रिया लगातार जारी रहेगी। इसके साथ साथी जिन लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है और उनमें लक्षण दिखाई दे रहे हैं उनके भी सैंपल दोबारा से लिए जा रहे हैं।