दोसड़का में एटीएम तोड़ने का प्रयास करने वाला पकड़ा, आंखें व छल्ले से भाई ने पहचाना

  • एटीएम तोड़ने के मामले में ही जेल में था, 15 दिन पहले ही जमानत पर छूटा है

अम्बाला. 8-9 मई की आधी रात को दोसड़का स्थित एसबीआई के एटीएम तोड़कर नकदी निकालने का प्रयास करने वाले युवक पकड़ा गया है। आरोपी सिरसगढ़ का नीरज है। एटीएम की सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए नीरज की उसके भाई ने ही शिनाख्त कर दी। आरोपी ने एटीएम का अलार्म व सीसीटीवी कैमरा तो तोड़ दिया था लेकिन डीवीआर में फुटेज रिकॉर्ड हो गई थी। एटीएम में 31 लाख की नकदी थी, जिस तक आरोपी नहीं पहुंच पाया था। फिलहाल कोर्ट ने आरोपी को जेल भेज दिया है।
पुलिस के मुताबिक जिस अंदाज में एटीएम तोड़ने की कोशिश हुई थी उसी अंदाज में काफी पहले भी वारदात हुई थी। इसलिए पुरानी फाइलें निकाली गई। उस मामले में सिरसगढ़ का नीरज आरोपी था। इसलिए पुलिस फुटेज लेकर उसके घर पहुंची। वहां पता चला कि नीरज 15 दिन पहले ही जमानत पर छोड़ा गया था। घटना के बाद से नीरज गायब था। पुलिस ने फुटेज दिखाई तो नीरज के भाई ने ही शिनाख्त कर दी कि इसमें कपड़े से ढका चेहरा उसके भाई का है। फुटेज में नीरज की आंखें और हाथ की अंगुली में डला छल्ला शिनाख्त कराने में अहम साबित हुए। मुलाना थाना प्रभारी नरेंद्र राणा ने बताया कि एटीएम से पैसे चुराने की कोशिश करने वाले सिरसगढ़ निवासी नीरज को काबू कर लिया है। नीरज पहले भी एटीएम तोड़ने के मामले में आरोपी है।