इतना भार एक मां ही सह सकती है…

  • ये हमारी ही तरह हाड़-मांस के बने हैं इन्हें भूख लगती है, दर्द भी होता है
  • कोरोना काल की सबसे बड़ी मानवीय त्रासदी
  • …और यही है इंसान का भेड़-बकरी हो जाना

अम्बाला. हरियाणा से एक लाख श्रमिक लौट चुके हैं। इन्हें 2000 बसों व 28 रेलगाड़ियों से भेजा गया है। हरियाणा की एक लाख में से करीब 39000 चालू हो गई हैं। आठ लाख रजिस्टर्ड श्रमिकों में से 40% तक लौट आए हैं। सरकार ने कहा है कि श्रमिकों को दर-ब-दर होने की जरूरत नहीं। सबके लिए यहां इंतजाम हैं। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि फिलहाल जिन प्रदेशों से मजदूरों के लिए एनओसी आ रही हैं, वहां मजदूर तुरंत भेजे जा रहे हैं। एक साथ सात लाख मजदूरों को भेजने की जरूरत पड़ी तो उसके लिए भी हरियाणा तैयार है।