4 एएनएम के संपर्क में आने वाले 20 लोगों के कोरोना के लिए सैंपल

रोहतक. पीजीआई के आईसोलेशन वार्ड में आठ दिन से भर्ती अटायल गांव के कोरोना पॉजिटिव डीटीसी बस चालक की 10 मई और 13 मई की सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आने पर उसे बुधवार को डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया। झज्जर जिले के 15 और जींद जिले के छह मरीजों की रिपोर्ट भी निगेटिव आने पर उन्हें छुट्‌टी देकर घर भेज दिया गया। एक दिन में 22 कोरोना संक्रमित मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर पीजीआई प्रशासन ने राहत की सांस ली है। जिला सिविल सर्जन कार्यालय की रैपिड रिस्पांस टीम के सदस्यों ने जनता काॅलोनी में कोराेना संक्रमित महिला एएनएम के संपर्क में आए 11 और एकता काॅलोनी, गढ़ी मोहल्ला और कमला नगर में रहने वाली एएनएम सहित उनके संपर्क में आए नौ लोगों के सैंपल लेकर लैब में टेस्ट के लिए भेजे हैं। कंटेनमेंट जोन घोषित जनता काॅलोनी में हेल्थ विभाग की टीम ने घर-घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग कर उनके स्वास्थ्य के बारे में फीडबैक लिया। कोविड 19 के जिला नोडल अधिकारी डॉ. सत्यवान ने बताया कि चार काॅलोनी में स्क्रीनिंग अभियान चलाया गया है और तीनों एएनएम के कान्टेक्ट में आए करीब 20 लोगों के सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए हैं। रोहतक में कुल 5 केस में से दो का इलाज अभी चल रहा है, जबकि तीन ठीक हो चुके हैं। अटायल निवासी मरीज को दिल्ली में जोड़ा गया था।

पीजीआई में अब तक कर चुके 18466 टेस्ट पीजीआई के कोविड 19 कंट्रोल रूम की ओर से बुधवार शाम को जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के जरिए बताया गया कि 13 मई को पीजीआई की लैब में विभिन्न जिलों से आए कुल 273 सैंपल टेस्ट किए गए। जिनमें रेवाड़ी के एक शख्स में कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। पीजीआई के सी ब्लॉक से 36 संदिग्धों के सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए थे जिनमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। लैब में अब तक 18,466 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं जिनमें 233 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।