हड़ताड़ी में 1.51 करोड़ रु. के डिवेलपमेंट वर्क में धांधली की रिपोर्ट पर ग्राम सचिव पद्मश्री अवाॅर्डी नरेंद्र चार्जशीट

पानीपत. इसराना ब्लॉक के हड़ताड़ी गांव में 1.51 करोड़ के डिवेलपमेंट वर्क में धांधली की रिपोर्ट पर डीसी हेमा शर्मा ने तत्कालीन ग्राम सचिव व पद्मश्री अवाॅर्डी नरेंद्र सिंह को चार्जशीट कर दिया है। ग्राम सचिव से 15 दिनों के अंदर इस पूरे मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया है। इस बीच, इसराना के ब्लॉक डिवेलपमेंट एंड पंचायत ऑफिसर (बीडीपीओ) जितेंद्र शर्मा की एक और जांच रिपोर्ट सामने आई है।
यह मांडी गांव में अंबेडकर भवन निर्माण के निर्माण के लिए आए 24.28 लाख से जुड़ा हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि काम पूरा होने से पहले ही पंचायत के खाते से 24.28 लाख रुपए निकाल लिए गए। इस मामले में भी बीडीपीओ ने ग्राम सचिव नरेंद्र सिंह को दोषी पाया है। साथ ही मांडी की सरपंच ज्योति देवी को भी इसमें संलिप्त पाया। जिसके बाद दोनों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की।
डीसी ने ग्राम सचिव नरेंद्र सहित दोनों गांव के सरपंचों से स्पष्टीकरण मांगा है। जबाव दाखिल करने के लिए नरेंद्र सिंह को जांच रिपोर्ट देखने की अनुमति भी दी गई है। ताकि उस आधार पर अपना स्पष्टीकरण दे सकें।`उसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।
सरपंच 15 दिन में देंगे मामले में जवाब
बीडीपीओ जितेंद्र शर्मा ने कहा कि हड़ताड़ी के सरपंच गुरमीत सिंह और मांडी की सरपंच ज्योति देवी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। सभी को 15 दिनों के अंदर मामले में जवाब देने के लिए कहा गया है। इसके बाद आगे की कार्यवाही होगी।
असेसमेंट की मांग करेंगे : नरेंद्र
ग्राम सचिव नरेंद्र सिंह ने कहा कि हड़ताड़ी और मांडी में फंड से ज्यादा के काम हुए हैं। मांडी में तो उल्टा सरपंच को ही सरकार से 73 लाख रुपए लेने हैं, लेकिन गलत रिपोर्ट बना दी गई। उन्होंने कहा कि वह तो तकनीकी विभाग से डिवेलपमेंट वर्क की असेसमेंट की मांग करेंगे, तभी सही रिपोर्ट आएगी।
वर्क पूरा होने से पहले पैसे निकाले
बीडीपीओ ने मार्च में डीसी को सौंपी रिपोर्ट में बताया था कि हड़ताड़ी में 1.51 करोड़ के 6 डिवेलपमेंट वर्क होने थे। बतौर ग्राम सचिव नरेंद्र सिंह और सरपंच गुरमीत ने काम पूरा होने से पहले ही पंचायत के खाते से पूरे पैसे निकाल लिए। बीडीपीओ ने कार्रवाई की सिफारिश की थी।
मामला भी दर्ज हो सकता है
ग्राम सचिव व सरपंचों के जवाब के बाद डीसी को लगता है कि बीडीपीओ की जांच रिपोर्ट सही है तो डिवेलपमेंट वर्क पूरा किए बिना पंचायत के खाते से फंड निकालने के लिए नरेंद्र, दोनों सरपंचों पर केस दर्ज हो सकता है। नरेंद्र सिंह ग्राम सचिव पद से सस्पेंड किए जा सकते हैं। तीनों से रिकवरी भी करेगी।
मांडी में भी काम पूरा नहीं किया
इसराना बीडीपीओ जितेंद्र शर्मा ने कहा कि परिवहन मंत्री रहते कृष्णलाल पंवार ने मांडी में अंबेडकर भवन के लिए 24.28 लाख फंड दिलाया था। पर यहां भी काम पूरा किए बिना पैसे निकाल लिए। 27 फरवरी 2020 को जेई के साथ मौका देखने गए तो 7.50 लाख के काम हुए थे। ग्राम सचिव को चार्जशीट कर जवाब मांगा ा है। दोनाें गांव के सरपंचों से भी जवाब मांगा गया है।