स्टेशन पर बिहार जाने को 108 श्रमिक कम पहुंचे तो पुलिस ने और बुलाए, ज्यादा भीड़ आने पर वापस दौड़ाया

रोहतक. लॉकडाउन में सूचनाएं सही तरीके से नहीं पहुंचने के कारण प्रवासी मजदूर मारे-मारे फिर रहे हैं। बुधवार को प्रवासी मजदूरों के लिए बिहार और मध्यप्रदेश के लिए दो ट्रेनें चलाई गई। बुधवार को करीब ढाई बजे रोहतक रेलवे स्टेशन से एक्सप्रेस ट्रेन से 1433 श्रमिकों को बिहार के पटना जिले के दानापुर में भेजा गया। इसमें पलवल और झज्जर जिले से कम संख्या में श्रमिक आने के कारण 108 टिकट बच गए। हेडक्वार्टर डीएसपी गोरखपाल राणा ने रोहतक जिले के उन श्रमिकों को बुलाने के निर्देश दिए जिनका रजिस्ट्रेशन हो चुका है। इस सूचना के बाद काफी संख्या में श्रमिक रेलवे स्टेशन पहुंच गए।
उनमें से जिन श्रमिकों को रजिस्ट्रेशन हो चुका था, उनको सभी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ट्रेन में बैठा दिया गया। इसके बाद भी रेलवे स्टेशन पर भारी संख्या में श्रमिक एकत्रित हो गए। पुलिस ने उन्हें स्टेशन से दौड़ा दिया। इसके बाद दूसरी ट्रेन मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ के लिए शाम साढ़े सात बजे ट्रेन रवाना हुई। इस ट्रेन में कुल 1649 श्रमिक सवार थे।