युवक को चिट्टा कारोबारी समझ किया था अपहरण, फिर परिजनों से मांगी थी 10 लाख फिरौती

  • युवक के अपहरण मामले में पुलिस ने चार आरोपियों में से एक को किया गिरफ्तार, 2 दिन के रिमांड पर

फतेहाबाद. दो दिन पूर्व अपहृत किए गए गीता कॉलोनी निवासी संदीप के अपहरण मामले में पुलिस ने चार में से एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी जिला संगरूर के गांव लैहलकलां निवासी पिन्द्रपाल को अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। रिमांड के दौरान उसके बाकी तीन साथियों की तलाश, अपहृत युवक की पिटाई करने में प्रयोग किया गया डंडा व अपहरण के लिए प्रयोग की गाड़ी को बरामद किया जाएगा। बाकी आरोपियों में लैहलकलां निवासी जगसीर उर्फ जगवीर उर्फ सरपंच, राजवीर उर्फ सिख तथा यादवेंद्र उर्फ मदरू शामिल हैं।
थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह, सीआईए प्रभारी विनोद कुमार व चंडीगढ़ रोड चौकी प्रभारी एसआई साधु राम ने बताया कि आरोपी पिंद्रपाल ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि संदीप कुमार चिट्टे का कारोबार कर सकता है। इसलिए उससे मोटी रकम मिल सकती है। इस कारण उसका अपहरण कर उसके परिजनों से 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई थी। जब संदीप को डरा धमका कर मारपीट की तो पता चला कि वह तो हैफेड में नौकरी करता है। फिर उसके परिजनों को एक लाख रुपये देने के लिए कहा लेकिन संदीप ने कहा कि उसके परिजनों के पास इतना जुगाड़ नहीं है। अंतत: 70 हजार रुपये देने के लिए कहा तो उसके परिजन उन्हें 25 हजार रुपये दे गए लेकिन उस समय यह आशंका होने पर की कहीं उनके साथ पुलिस न हो वे संदीप को लेकर आगे निकल गए।

उन्होंने बताया कि आरोपी संदीप को गाड़ी में डालकर नहर कॉलोनी से होते हुए हिम्मतपुरा, हांडा, कडैल व बलरां होते हुए मूनक एरिया में दाखिल हुए। उसके बाद वे उसे लेकर जंगली एरिया में छिपते रहे।
सुनसान जगह पर ले गए थे संदीप को
अधिकारियों ने बताया कि गाड़ी को उन्होंने पिंद्रपाल के घर पर छोड़ दिया था जिसे पुलिस टीम ने बरामद कर लिया है। यह गाड़ी पिंद्रपाल ने गुरुग्राम से किसी से खरीद की है। उन्होंने बताया कि वहां से वे संदीप को लेकर कच्चे रास्ते से जंगल बियावान सुनसान जगह पर ले गए। चूंकि इन संकरे रास्तों पर गाड़ी नहीं जा सकती इसलिए वे संदीप को बाइक पर लेकर छिप रहे थे। जिन्हें सर्च ऑपरेशन के तहत मोबाइल की लोकेशन के आधार पर लैहलकलां के पास एक रजवाहे के किनारे काबू करने का प्रयास किया।

बाकी आरोपियों की तलाश की जाएगी
थाना प्रभारी ने बताया कि दो दिन के रिमांड के दौरान पिंद्रपाल की निशानदेही पर बाकी आरोपियों की तलाश की जाएगी। इसके अलावा अपहृत युवक की पिटाई करने में प्रयोग किया गया डंडा व अपहरण के लिए प्रयोग की गाड़ी को बरामद किया जाएगा।