कोरोना से सावधानी बरतने के लिए नलकूप सील किए

  • लघु सचिवालय के सामने लगे हैंडपंपों को स्वास्थ्य विभाग ने सील किया

बहादुरगढ़. जिले में कोरोना संक्रमित पॉजिटिव केस आने के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है। शहर के उन नलकूपों को अब सील कर दिया गया जहां से आम लोग पानी भरकर ले जाते थे। जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि विभाग की यह कार्रवाई स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों पर की गई है और अब सड़क किनारे लगे हैंडपंपों को डीएक्टिव कर दिया गया है। गुरुग्राम रोड पर जलघर के साथ में कई नलकूप लगे हुए थे, जिनसे सिलानी गेट व आसपास की लोग पानी भरकर ले जाते थे। यहां के पानी की खासियत यह थी कि ये नलकूप जल घर के समीप लगे हुए हैं और जिनके कारण इनका पानी पीने के टेस्ट के हिसाब से काफी अच्छा माना जाता रहा है। गुरुग्राम रोड पर सब्जी मंडी में कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद जिला प्रशासन की ओर से इस पूरे क्षेत्र को सील किया गया था। लोगों के बार बार हाथ लगते हैं और किसी संक्रमित व्यक्ति के छूने से दूसरे व्यक्ति को भी कोरोना हो सकता हैं। स्वास्थ्य विभाग के संज्ञान में जब यह मामला आया तब जन स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर इसके बारे में अवगत कराया गया। अब लघु सचिवालय के सामने लगे नलकूपों को सील कर दिया गया है और यहां पर अब पानी नहीं भरा जा सकता। जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि यह नलकूप सब्जी मंडी इलाके के पास थे और स्वास्थ्य विभाग ने इनको संक्रमण फैलाने के मामले में संदिग्ध माना जिस पर विभाग ने कार्रवाई करते हुए नलकूपों को सील कर दिया।

पुरानी तहसील रोड पर चल रहे हैंडपंप :

पुरानी तहसील रोड पर भी वाटर वर्कर्स बना हुआ है लेकिन यहां लगे नलकूपों को सील नहीं किया गया। आम लोग अपनी जरूरत के हिसाब से यहां से पानी भरकर ले जाते हैं। जानकारों का कहना है कि शहर में जलापूर्ति की व्यवस्था है, लेकिन लंबे समय से लोगों को यहां से पानी लेकर पीने में जो आनंद आता है वह सप्लाई के पानी में भी नहीं मिलता है। इस लिहाज से काफी संख्या में लोग पुरानी तहसील मार्ग के वाटर वर्कर्स के साथ लगे हैंडपंपों से पानी लेकर जाते हैं।