कोरोना को मात दे रहे बहादुर लोग, बहादुरगढ़ में 14 ठीक हुए, शहर में फूल बरसाकर इनके हौसले को किया सलाम

  • कोरोना को हराकर लौटे लोगों का हौसला बढ़ाएं, तभी जीत सकेंगे पूरी जंग, कंटेनमेंट जोन भी धीरे-धीरे होंगे खत्म
  • अहरी गांव का दिल्ली पुलिस का जवान मिला कोरोना पॉजिटिव

बहादुरगढ़. काेराेना संकट के बीच बहादुरगढ़ के लिए बुधवार राहत लेकर आया। बहादुरगढ़ के भी एक साथ 14 काेराेना पाॅजिटिव मरीज ठीक हाेकर अपने घराें काे लाैट अाए। यह सभी 14 लाेग सब्जीमंडी से ही जुड़े हैं। इससे पहले 11 लाेग ठीक हाेकर अाए थे, जिनमें से 10 झज्जर से थे। अब तक 85 मरीजाें में से 25 लाेग ठीक हाेकर आ चुके हैं। बुधवार काे इनका घर लाैटने पर फूलों से स्वागत किया गया। नेहरू पार्क, पटेल नगर, अग्रवाल कॉलोनी, रामनगर, सब्जीमंडी आदि एरिया में यह लोग ठीक होकर लौटे हैं। वहां पर पार्षदों, पूर्व पार्षदों और कॉलोनीवासियों ने उनका हौसला बढ़ाया। सभी कोरोना वॉरियर्स ने कहा कि इस वायरस को हराने के लिए सकारात्मक सोच सबसे बड़ी दवा है। अपनों से फोन पर बात करते रहने से हौसला बना रहा।

बेटे के इंतजार में दो दिन से सोई नहीं मां, जब मिले तो दोनों ही फूट-फूटकर रोए

वार्ड 24 मेन बाजार के पास इमली वाली गली में रहने वाले सुभाष सब्जी व्यापारी हैं। जैसे ही वाहन से अपने मोहल्ले में उतरे तो नगर पार्षद रेखा वत्स ने उनका स्वागत किया। रेखा वत्स के पांव छूने के बाद वह अपनी गली में प्रवेश करने लगे तो घर के पास इंतजार में खड़ी मां को देख वह रोने लगे व उनके पांव छूने के बाद उसे भी चुप करवाने लगे। 29 अप्रैल की रात को जब कोरोना पॉजिटिव होने के चलते पीजीअाई ले जाया जा रहा था तो उसकी मां रोशनी के मन में डर बैठ गया था। टीवी व अन्य संचार साधनों से कोरोना के कारण हो रही लगातार हजारों की मौत के बाद उनका दिल बैठ रहा था। यह 14 दिन उसने इस इंतजार में काटे कि भगवान उनके साथ न्याय करेंगे। आज जैसे ही वह सामने हंसता हुआ आता दिखाई दिया तो रोशनी की आखों में फिर से पहले जैसी चमक उभरी। दोनों मां-बेटा काफी देर तक रोए व पार्षद रेखा वत्स ने दोनों को चुप करवाया व घर पहुंचाया। रेखा वत्स ने कहा कि वह जब ठीक हुअा तो उसे फोन करके यह खुशखबरी दी। बेटे को खुश व स्वस्थ्य देख उसने उसकी मां रोशनी को बताया कि सुभाष बुधवार को वापस आ जाएगा। इस खुशी में रोशनी दो रातों से साेई नहीं। रात भर बेटे के आने का इंतजार करती रही। आज जैसे ही बेटे को सामने देखा तो मोहल्ले के लोगों ने भी खुशी मनाई। पूर्व पार्षद धमेंद्र वत्स ने कहा कि कोरोना जैसे बीमारी किसी को दिखाई नहीं देती। यह तो केवल सुरक्षा के उपायों के साथ ही दूर की जा सकती है।

3488 सैंपल में से 3261 लोगों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव

सिविल सर्जन डाॅ. पूनिया ने बताया कि झज्जर जिले में अब तक कुल 3488 लोगों के कोरोना से संबंधित सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 3261 लोगों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। अभी 142 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट आनी शेष है, जबकि उक्त कुल सैंपल में से 85 की रिपोर्ट पहले ही पाॅजिटिव आ चुकी है और उनमें से 25 को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है।

बहादुरगढ़ शहरी क्षेत्र के 15 व्यक्ति हाे चुके ठीक

85 कोरोना संक्रमित में से अब तक 25 संक्रमित व्यक्ति ठीक होकर घर लौट चुके हैं। कोविड-19 वैश्विक महामारी के चक्रव्यूह में झज्जर जिला निवासी दिल्ली क्षेत्र के 4 व्यक्तियों सहित कुल 85 कोरोना संक्रमण के मामले अब तक सामने आए हैं। सभी संक्रमित व्यक्तियों को पीजीआई रोहतक अाैर बीपीएस खानपुर कलां में दाखिल करवाया गया था। सिविल सर्जन डाॅ. रणदीप पूनिया ने बताया कि अब तक दिल्ली से जुड़े 4 लोगों सहित कुल 85 मामले सामने आए हैं। उनमें से एक दिल्ली से जुड़े व्यक्ति के साथ ही कुल 25 कोरोना प्रभावित लोगों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि बीती 8 मई को झज्जर जिला के 6 कोरोना संक्रमित व्यक्ति ठीक होकर घर पहुंचे और उसके बाद 9 मई को पांच व्यक्तियों को छुट्टी मिली। बुधवार को 14 कोरोना से प्रभावित व्यक्ति स्वस्थ्य होकर घर लौटे हैं। डाॅ. रणदीप पूनिया ने बताया कि अब तक बहादुरगढ़ शहरी क्षेत्र से कुल 15 व्यक्ति ठीक होकर घर आए हैं, वहीं झज्जर शहरी क्षेत्र में 6 व्यक्ति अाैर गांव सलौधा से 4 कोरोना संक्रमण प्रभावित व्यक्ति स्वस्थ्य होकर अपने घर पहुंचे हैं।

ताली बजाकर चार कोरोना विजेताओं का स्वागत किया

नेहरू पार्क वार्ड 21 में कोरोना से जंग लड़कर ठीक होने पर घर पहुंचे सब्जी व्यापारी के परिवार का पार्षद अलबेल पहलवान व वार्ड के लोगों ने ताली बजाकर व फूल बरसाकर स्वागत किया। सभी चार सब्जीमंडी से संबंधित परिवार के सदस्य हैं। इस मौके पर पार्षद अलबेल के साथ मनोज, भूरा, सेठी, कृष्ण, धर्मबीर अाैर आमोद छिल्लर ने स्वागत किया। नेहरू पार्क से अनिल, वीना पत्नी अनिल, दिव्या, त्रिलोक चंद अब स्वस्थ होकर लौटे हैं। अग्रवाल काॅलोनी में केसरी ठीक होकर वापस घर पहुंचे तो परिवार के लोगों ने भगवान को धन्यवाद किया। सुभाष निवासी किला मोहल्ला के इंतजार में लोग पहले से ही गली में खड़े थे। इसी तरह रंजीत कॉलोनी से नरेंद्र, दिनेश निवासी जोहरी, उषा निवासी पटेल नगर, वीरेंद्र निवासी रामनगर, नरसी निवासी रामनगर, मिथलेश निवासी सब्जी मंडी, प्रकाश निवासी मोहन नगर व टिंकू चौधरी निवासी रामनगर अपने घर स्वस्थ होकर पहुंचे।