प्लाइवुड फैक्ट्री में काम करने वाले प्रवासी मजदूर ने फांसी का फंदा लगाया, साथी बोले- पैसे खत्म होने पर उठाया ये कदम

  • मृतक के साथियों का कहना उसके बाद काम नहीं था, पैसे भी खत्म हो गए थे
  • उड़ीसा राज्य का रहने वाला था मृतक मजदूर गंगाधर

यमुनानगर. यमुनानगर के नाहरपुर में एक प्लाइवुड फैक्ट्री के मजदूर ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। उड़ीसा का रहने वाला यह मजदूर मंगलवार रात को कमरे से गायब हो गया था, सुबह जब उसके साथियों ने तलाश की तो खेतों में उसका शव पेड़ से लटका मिला। पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर उसके साथियों को सौंप दिया है। साथियों का कहना है कि पैसे खत्म होने से परेशान था, इसके चलते सुसाइड किया।

थाना जठलाना प्रभारी मनोज कुमार का कहना है कि मजदूर गंगाधर ने किन कारणों से फंदा लगाया है इसके बारे कोई ठोस जानकारी नहीं मिली है। वहीं किसी की तरफ से कोई शिकायत भी नहीं की गई। शव का पोस्टमॉर्टम करा उसके साथ काम करने वाले उसके साथियों को सौंप दिया।

पुलिस ने इस मामले में धारा 174 (इत्तेफाकिया मौत) की कार्रवाई की है। मृतक गंगाधर के साथियों ने बताया कि कोरोना के चलते फैक्ट्री बंद हैं। उनके पास कोई काम नहीं है। जो पैसे थे वह भी खर्च हो गए। सभी अपने कार्य को लेकर परेशान है। परेशान होकर ही उसके साथी ने यह कदम उठाया है।