स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंची किट, गांवों में होंगी वितरित

  • हर रविवार को अपने कूलर को कपड़े के साथ अच्छी तरह साफ करें ।

यमुनानगर. एक और जहां कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट दिखाई दे रहा है, तो वहीं दूसरी ओर मलेरियां की बीमारी की रोकथाम के लिए भी स्वास्थ्य विभाग ने जमीनी स्तर पर कार्य शुरू कर दिया है। मलेरिया की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग के पास किट्स पहुंच चुकी हैं। इन किट्स को विभाग की ओर से उन गांवों में वितरित किया जाएगा, जिन गांवों में मलेरिया के लक्षण अधिक मिलते हैं। इनमें सब सेंटर अलाहर व घिलौर से जुड़े गांवों में भेजा जा रहा है। घिलौर सब सेंटर के अंतर्गत घिलौर गांव, दौलतपुर व हिरण छप्पर वहीं सब सेंटर अलाहर के अंतर्गत गांव अलाहर व करतारपुर आते हैं। इस सभी गांवों में यह किट्स बांटी जाएंगी। किट्स के अंदर मच्छरदानियां है। इन मच्छरदानियों पर विशेष तरह का लेप लगा होता है। मच्छर इनके आस पास भी नहीं बैठ पाता। एसएमओ डॉ. विजय परमार ने बताया कि मच्छदानियों के अलावा जितने तालाब है उनमें गंबूजिया फिश जिसे छोटी मच्छली कहा जाता है, जो मलेरिया के लारवा को खा जाती है, उसे डाला जाएगा। वहीं स्वास्थ्य विभाग के वर्कर घर घर जाकर जांच कर रहे हैं कि किसी के घर में पानी इकट्ठा न हो। लोगों को कहा जा रहा है कि वह अपने घर के अंदर व आसपास जमा पानी न होने दें। हर रविवार को अपने कूलर को कपड़े के साथ अच्छी तरह साफ करें ।