विधायक ने कनीना में जानी लोगाें की समस्याएं, समाधान का दिया आश्वासन

कनीना. कनीना नगरपालिका कार्यालय में मंगलवार को हलका विधायक सीताराम यादव ने कस्बे का दौरा कर प्रवासियों की रिपोर्ट के साथ-साथ लोगों की समस्याएं भी सुनीं।
बता दे कि लॉकडाउन की वजह से खंड में फंसे हुए प्रवासियों को प्रशासन के द्वारा उनके घरों को भेजा जा रहा है। जिनकी रिपोर्ट लेने के लिए हलका विधायक सीताराम यादव मंगलवार को कस्बे में पहुंचे। इस दौरान नगरपालिका चेयरमैन सतीश जेलदार ने कस्बे में रुके एमपी के 184 प्रवासियों को भी जल्द से जल्द उनके घरों को भेजने की मांग की है। किसान नरेश ने भी अपनी समस्या विधायक के सामने रखते हुए कहा कि उसके कुएं पर 19 मजदूर पीलीभीत जिले के रुके हुए हैं। फसल कटाई के लिए आए हुए इन मजदूरों को उसने लॉकडाउन के चलते अपने कुएं पर ही रहने के लिए जगह दी हुई है। इसके अलावा इनके भोजन की व्यवस्था भी कर रहा है। लेकिन सभी मजदूर बार-बार घर जाने की मांग कर रहे हैं ओर रात के समय अपना सामान उठाकर भी चलने लग जाते हैं। जिसके चलते उनके सामने विकट समस्या बनी हुई है। जिसपर हलका विधायक सीताराम यादव ने कहा कि मजदूरों को धीरे-धीरे उनके घरों के लिए रवाना किया जा रहा है। बैठक के दौरान नगरपालिका के उपप्रधान अशोक ठेकेदार ने भी सरसों खरीद को लेकर कस्बे के किसानों के सामने आ रही समस्याओं के बारे में हलका विधायक को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि मार्केट कमेटी के द्वारा जारी लिस्ट में कस्बे के किसानों के नाम काफी कम आ रहे है। जिससे सभी किसान काफी परेशान है। जिसपर विधायक ने कहा कि किसी भी किसान को परेशान होने की आश्वयकता नहीं है। क्षेत्र के सभी किसानों की सरसों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा।
कस्बे के व्यापारियों ने भी हलका विधायक से मुलाकात कर अपनी समस्याओं के बारे में अवगत कराया। व्यापारी महेन्द्र, सुरेन्द्र, राजेश, विनोद आदि ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से कस्बे की सभी दुकानें रोस्टर प्रणाली से खोली जा रही है। जिसके चलते ग्राहकों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
व्यापारियों ने बताया कि एक दिन कस्बे में कपड़े की दुकानें खुलती हैं तो दूसरे दिन बिजली से संबंधित सामान की। जिसके चलते जिस भी उपभोक्ता को बिजली व कपड़े का सामान खरीदना पड़ता है उसे लगातार दो दिनों तक कस्बे में आना पड़ रहा है। व्यापारियों ने हलका विधायक से मांग कर सभी दुकानों को एक दिन के अंतराल पर सुबह 8 से 1 बजे तक खोले जाने की मांग की।