लॉकडाउन के चलते जिला में फंसे 1628 प्रवासियों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना

नारनौल. लॉकडाउन से जिला में फंसे 1628 यात्रियों को लेकर मंगलवार नारनौल रेलवे स्टेशन से पहली श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ी रवाना हुई। इनमें 188 बच्चे शामिल हैं। ये नॉन स्टॉप रेलगाड़ी 12 घंटे में सीधे छतरपुर (मध्यप्रदेश) पहुंचेगी।
गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार यहां रेलवे स्टेशन पर रेलगाड़ी में चढऩे से पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी यात्रियों का चिकित्सीय परीक्षण किया। जिला प्रशासन द्वारा मुफ्त रेल टिकट के अलावा सभी यात्रियों को खाने के पैकेट पानी की बोतल सैनिटाइजर व मास्क उपलब्ध करवाए गए। सामाजिक दूरी का ख्याल रखने के वास्ते जिला प्रशासन के अधिकारियों ने सुबह से ही इसकी तैयारियां शुरू कर दी थी।
रेलवे स्टेशन के बाहर तथा प्लेटफार्म पर विशेष चिन्ह लगाए गए थे ताकि एक दूसरे यात्री से कम से कम 6 फीट की दूरी रहे। सभी 24 कोच को रेलवे स्टेशन पर सेनेटाइज किया गया। विभिन्न शेल्टर होम में ठहरे इन सभी यात्रियों को रोडवेज की बसों में बैठाकर रेलवे स्टेशन पर पहुंचाया गया जहां पर पहले उन्हें मुफ्त टिकट दिया गया। इसके बाद स्टेशन पर ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक.एक करके सभी का चिकित्सीय परीक्षण किया। सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की ओर से लगाए गए पी ए सिस्टम के माध्यम से लगातार सभी यात्रियों को सामाजिक दूरी बनाए रखने तथा कोरोनावायरस से बचाव के संबंध में जानकारी दी जा रही थी।
इस मौके पर पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मुनीष नागपाल, एसडीएम नारनौल मनीष कुमार, स्टेशन अधीक्षक मुनेश भार्गव के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।