ठेके पर शराब लेने आए युवकों को मास्क लगाने को कहा तो पुलिसकर्मियों को पीटा, वर्दी भी फाड़ी

नारनौल. गांव मंडलाना के शराब ठेके पर सोशल डिस्टेंस बनाए रखने के लिए लगाए गए पुलिस कर्मचारियों को वहां शराब लेने आए दो युवकों को मास्क लगाने के लिए कहना इतना भारी पड़ा कि वहां से जाने के बाद कुछ देर में लौटकर वापस आए दोनों युवकों ने तैनात पुलिस कर्मचारियों के साथ मारपीट की। उनकी वर्दी फाड़ डाली तथा उनकी जेब में रखे रुपये छीनकर भाग निकले। बाद में पुलिस ने उन दोनों आरोपियों संदीप पुत्र रामसिंह व रवि उर्फ गोलियां पुत्र बलवंत वासी मंडलाना को सोमवार देर शाम गिरफ्तार किया।

मंगलवार उन्हें अदालत में पेश करके एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। लॉकडाउन-3 में शराब के बंद ठेकों पर होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक ठेके पर सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए पुलिस कर्मचारियों की तैनाती की गई है। एसपी के आदेश के बाद गांव मंडलाना के शराब ठेके पर सिपाही नवीन व एसपीओ सतीश तैनात थे। सोमवार सुबह 10 बजे के करीब संदीप व रवि मोटरसाइकल पर बैठकर ठेके पर आए। उन्होंने मास्क नहीं लगा रखा था। पुलिस कर्मचारियों इन दोनों को मास्क लगाने के लिए कहा तो ये दोनों वहां से चले गए। एक घंटे बाद दोबारा आये तब भी इन्होंने मास्क नहीं लगा रखा था। इनको फिर से समझाया तो ये दोनों युवक तैश आकर चले गए। कुछ देर बाद तीसरी बार ये दोनों शराब पीकर वहां पहुंचे। उस समय उनके हाथों में डंडा था।

आते ही पहले इन्होंने गाली-गलौच की और उसके बाद पुलिस कर्मचारियों के साथ मारपीट की। इस दौरान उन्होंने सिपाही नवीन को सिर में चोट मारी। बचाव के दौरान जब नवीन फोन करने लगा तो उसका मोबाइल हाथ से छीनकर तोड़ दिया और वर्दी फाड़ दी। इसके बाद उन्होंने नवीन की जेब से 1400 रुपये निकाले और गांव की तरफ भाग गए। बाद में सिपाही नवीन की शिकायत पर दोनों आरोपियों के खिलाफ़ धारा केस दर्ज करके दोनों आरोपियों संदीप व रवि को गांव मंडलाना से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि इन दोनों आरोपियों को मंगलवार अदालत में पेश करके एक दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है। रिमांड के दौरान मोटरसाइकिल रुपए व डंडे बरामद किए जाएंगे। इसमें एक आरोपी संदीप आवारा किस्म का लड़का हैं। उसके खिलाफ पहले भी राजस्थान में मारपीट, हत्या व लूट के अनेक केस दर्ज हैं।