किसानों को नहीं मिल रहा फसल का मेहनताना, आढ़ती चाहकर भी नहीं कर पा रहे उन्हें भुगतान

  • आढ़तियों ने कहा- सरकार सीधे किसानों के खाते में पैसे डाल दे, उन्हें कोई एतराज नहीं

यमुनानगर. किसानों के खाते में पेमेंट डालने में आ रही दिक्कतों से परेशान आढ़तियों ने कहा कि सरकार सीधे किसानों के खाते में पैसे डाल दे। उन्हें कोई एतराज नहीं। अब वे शनिवार तक अपने खाते में आई राशि का किसी भी किसान को भुगतान नहीं करेंगे। उनके द्वारा किसान के खाते में डाली जा रही पेमेंट किसी कंपनी के खाते में जा रही है, जिसके लिए किसान उन्हें जिम्मेवार ठहरा रहे हैं। जिला आढ़ती एसोसिएशन की मंगलवार को अनाज मंडी में बैठक हुई। जिला प्रधान शिव कुमार ने कहा कि मौजूदा खरीद सत्र में शुरू से ही किसानों को सरकार ने परेशानी में डाले रखा। न तो मंडियों में उठान समय पर हो पा रहा और न ही किसानों को उनकी फसल का समय पर भुगतान। अभी तक 20 से 25 अप्रैल तक की गेहूं खरीद का भुगतान आढ़तियों को विभिन्न खरीद एजेंसियों की ओर से उनके बैंक अकाउंट में किया गया है। उन्हें यह भुगतान किसानों को ई-पोर्टल के माध्यम से करना है। आढ़ती जिस भी किसान के खाते में ई-पोर्टल के माध्यम से पैसे डाल रहे हैं। वह किसान के खाते में जाकर हरियाणा स्टेट काेआॅपरेटिव सोसाइटी एंड मार्केटिंग फेडरेशन के खाते में जा रही है। बिलासपुर मंडी प्रधान दलजीत सिंह बाजवा का कहना है कि यदि उक्त कंपनी ने फ्रॉड कर लिया तो किसानों की पेमेंट आढ़तियों के सिर आ जाएगी। खरीद एजेंसी से पेमेंट लेना भारी पड़ रहा था। बाद में बैंक से निपटने में काफी समय खराब हो गया। अब कहीं जाकर आढ़तियों के खाते में पेमेंट आई है तो अब दोबारा से वह कंपनी के खाते में जा रही है। ऐसे में किसान उनसे सवाल कर रहा है। जिन किसानों के खाते में 9 मई को पेमेंट डाली थी, वह आज तक किसान के खाते में नहीं आई। ऐसे में कंपनी पर क्या भरोसा करें। उच्चाधिकारी इस बाबत कोई संतोषजनक जवाब देने में असमर्थ हैं।

शनिवार तक नहीं करेंगे भुगतान

जिला प्रधान शिव कुमार व दलजीत सिंह बाजवा ने बताया कि सर्वसम्मति से फैसला लिया गया है कि शनिवार तक कोई भी आढ़ती ई-पोर्टल से किसान के खाते में भुगतान नहीं करेगा। शुक्रवार को किसानों को बुलाया जाएगा। उन्हें सारी स्थिति से अवगत कराया जाएगा। इस पर किसान से शपथ पत्र लेकर ही उसके खाते में पेमेंट डाली जाएगी। कंपनी से पेमेंट न आने पर आढ़ती किसी तरह से जिम्मेवार नहीं होगा।

अगली पेमेंट के लिए लगाई शर्त

आढ़तियों का कहना है कि खरीद एजेंसी ने 25 अप्रैल तक की खरीद की पेमेंट कर दी है। सरकार ने उन पर शर्त लगाई है कि जब तक इस पेमेंट का भुगतान का प्रमाण पत्र सरकार के पास जमा नहीं किया जाता, अगली पेमेंट रिलीज नहीं की जाएगी। उनका कहना है कि सरकार जानबूझ कर किसान व आढ़ती को परेशान कर रही है। आढ़ती एसोसिएशन का एक शिष्टमंडल डीसी मुकुल कुमार से मिलकर समस्या के समाधान की मांग करेगा।