आकोदा केन्द्र पर बुलाए 400 किसान, सोशल डिस्टेंस के पालन में छूटा पसीना

आकोदा. गांव आकोदा स्थित सरसों खरीद केन्द्र पर मंगलवार को मार्केट कमेटी द्वारा 400 किसानों को बुलाए जाने पर केन्द्र पर सारा दिन काफी भीड़ लगी रही। बता दें कि कोरोना वायरस के चलते खरीद केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए पहले दिन में 100 किसानों को ही अपनी फसल बेचने के लिए खरीद केन्द्र पर बुलाया जाता था। जिसके चलते सोशल डिस्टेंस को बनाए रखने में अधिकारियों के सामने भी किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं हो रही थी। लेकिन मंगलवार को केन्द्र पर 400 किसानों को मैसेज भेजकर बुलाने पर सारे दिन भीड़ लगी रही। मंगलवार को आकोदा केन्द्र पर खंड के गांव बसई, गढ़ी, खुडाना, जेरपूर, उष्मापुर व बवाना के 400 किसानों को अपनी सरसों की फसल बेचने के लिए मार्केट कमेटी के द्वारा मैसेज भेजा गया था। जिनमें से करीब 328 किसान ही अपनी फसल को बेचने के लिए केन्द्र पर पहुंचे।
329 किसान करीब 9839 क्विंटल सरसों लेकर पहुंचे
आकोदा स्थित सरसों खरीद केन्द्र पर मंगलवार को खंड के गांव बसई, गढ़ी, खुडाना, जेरपूर, उष्मापुर व बवाना के किसानों की सरसों खरीदी गई। केन्द्र पर 329 किसान करीब 9839 क्विंटल सरसों लेकर पहुंचे थे। केन्द्र पर करीब 6800 क्विंटल सरसों की खरीद की जा चुकी थी।
धर्मकांटे पर भी वजन कराने के लिए वाहनों की लम्बी कतार

आकोदा सरसों खरीद केन्द्र पर एक दिन में 400 किसानों को अपनी सरसों बेचने के लिए बुलाए जाने पर केन्द्र पर सारा दिन काफी चहल पहल रहा। किसानों की संख्या अधिक होने की वजह से अधिकारियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा वहीं किसानों की संख्या अधिक होने की वजह से बारदाने की समस्या भी देखने को मिली। वेयरहाउस अधिकारी कर्ण सिंह ने बताया कि खाद्य विभाग से बारदाना ले लिया गया है जो बुधवार को केन्द्र पर पहुंच जाएगा। वहीं उन्होंने कहा कि आकोदा स्थित मंडी कच्ची होने व एक दिन में मार्केट कमेटी द्वारा 400 किसानों को मैसेज भेजने की वजह से सारा दिन काफी समस्या बनी रही। केन्द्र पर किसानों की संख्या अधिक होने की वजह से सोशल डिस्टेंस को बनाए रखने में भी समस्या आ रही है। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंस को बनाए रखने के लिए केन्द्र पर किसानों की संख्या को कम करना होगा ताकि कोरोना वायरस के चलते सरकार द्वारा जारी नियमों का पालन सही तरीके से हो सके।