अम्बाला में पैदल बिहार जा रहे दो प्रवासी मजदूरों को अज्ञात वाहन ने कुचला, एक की मौत, दूसरा घायल

  • हरियाणा में अम्बाला के जगाधरी हाइवे पर हुआ हादसा, पैदल बिहार के पूर्णियां जा रहे थे
  • हादसे के बाद वाहन चालक फरार, मौके पर हुई एक की मौत, दूसरा पीजीआई रेफर

अम्बाला. अम्बाला के जगाधरी हाइवे पर पैदल बिहार के लिए निकले दो मजदूरों को अज्ञात वाहन ने कुचल दिया। इस हादसे में एक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरा मजदूर गंभीर रुप से घायल था। मृतक की पहचान बिहार के रहने वाले अशोक के रूप में हुई है। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। बता दें कि पंजाब और हरियाणा से अब भी प्रवासी मजदूरों का पैदल पलायन जारी है।

मृतक के शव को एंबुलेंस में अम्बाला सिविल अस्पताल लेकर जाते हुए। इस समय अम्बाला में पंजाब से आने वाले मजदूरों का तांता लगा हुआ। जो पैदल ही जा रहे हैं।

मृतक अशोक के साथी सुधीर कुमार मंडल ने कहा, 'मैं पूर्णिया का रहने वाला हूं। अम्बाला में पिछले दो-तीन साल से रह रहा हूं। हमारे पास पैसे खत्म हो गए थे, इंतजार कर रहे थे कि कब लॉकडाउन खुलेगा और अपने घर जाएंगे। मेरे चार साथी पैसे खत्म हो जाने पर पैदल ही बिहार के पूर्णिया के लिए निकल गए थे। जगाधरी रोड पर अज्ञात वाहन ने दो को कुचल दिया। इसमें हमारे साथी अशोक की मौके पर मौत हो गई। दूसरा साथी पिंकू गंभीर रुप से घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां से चंडीगढ़ पीजीआई रेफर कर दिया गया। हमारे दो साथी विजय और मनोज बच गए।'

अस्पताल में मौजूद मृतक अशोक के परिजन। उनका कहना है कि पैसे खत्म होने के बाद चार लोग पैदल ही घर जाने के लिए निकले थे।

अम्बाला सिविल अस्पताल के डॉक्टर का कहना है कि हमारे पास मंगलवार सुबह एक मृतक लाया गया था, जो बिहार के पूर्णिया का रहने वाला है, जबकि दूसरा गंभीर रुप से घायल था। उस घायल को चंडीगढ़ पीजीआई रेफर कर दिया गया है। वहीं पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।

बड़ी संख्या में पंजाब से यूपी और बिहार के लिए पैदल आ रहे हैं प्रवासी मजदूर
हरियाणा में लॉकडाउन और पंजाब में कर्फ्यू होने के बावजूद भी यूपी और बिहार के लिए प्रवासी मजदूर पैदल पलायन कर रहे हैं। अम्बाला में पंजाब से लगने वाली हरियाणा की सीमा पर प्रवासी मजदूर समूह में सैकड़ों की तादाद में पहुंच रहे हैं। पंजाब पुलिस इन्हें रोक पाने में कामयाब नहीं हो रही है। हरियाणा पुलिस के साथ प्रवासी मजदूरों की धक्का-मुक्की हो रही है। कुछ जगह पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ रहा है। ऐसे में मजदूर परेशान हो रहे हैं। वहीं इस मामले में हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज बयान दे चुके हैं कि पंजाब को प्रवासी मजदूरों के रूकने की व्यवस्था करनी चाहिए थी, उन्हें इस तरह हरियाणा में धक्का नहीं देना चाहिए था।