85 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से चले तूफान में टूटे बिजली के पाेल और गिरे पेड़

  • सुबह तेज तूफान के साथ अाई बारिश से तापमान भी गिरा, बिजली निगम के पास दिनभर पहुंचती रही कंप्लेट

अम्बाला. सुबह करीब 9 बजे 85 किलोमीटर प्रति घंटा के हिसाब से आए तूफान ने काफी नुकसान कर दिया। तूफान की रफ्तार इतनी तेज थी कि बिजली पाेल अाैर पेड़ उखड़ गए। सबसे ज्यादा नुकसान कैंट के नन्हेड़ा, बब्याल, माेहड़ा और सिटी के चौड़मस्तपुर क्षेत्र में हुआ। इन जगहाें पर बिजली पाेल उखड़ गए। कई जगहाें पर बिजली ताराें पर पेड़ गिर गए। सुबह से लेकर दाेपहर तक ज्यादातर क्षेत्राें में बिजली बंद रही। बिजली निगम टीम ने दाेपहर बाद सभी जगहाें पर सप्लाई काे बहाल करवाया। यही नहीं तूफान के कारण लाेगाें के घराें की तारें भी टूट गई। निगम में कंज्यूमर की कंप्लेट भी काफी पहुंच रही थी। तूफान के कारण माेहड़ा और बब्याल फीडर भी प्रभावित रहा। दाेपहर बाद तक भी कई जगहों पर बिजली सप्लाई शुरू करने के बाद भी समस्या आती रही।
कैंट एक्सईएन पवन नरूला ने बताया कि नन्हेड़ा, बब्याल, माेहड़ा एरिया में पाेल गिरने से ज्यादा नुकसान हुआ है। तार टूटने के कारण कंज्यूमर की व्यक्तिगत कंप्लेट भी ज्यादा आई हैं। वहीं, सिटी एक्सईएन पुनीत कुमार ने बताया कि सिटी के चौड़मस्तपुर में पाेल गिरने से नुकसान हुआ है। नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। सभी जगहाें से रिपाेर्ट मंगवाई है। दाेपहर तक बिजली सप्लाई शुरू करवा दी गई थी। जिन जगहाें पर सप्लाई शुरू हाेने के बाद भी समस्या आ रही थी।
दूसरी तरफ तूफान के साथ-साथ बारिश भी हुई। वाहनाें काे लाइट जलाकर सड़काें से गुजरना पड़ा। बारिश के बाद माैसम सुहावना हाे गया। शनिवार काे तापमान ज्यादा था, मगर बारिश से गर्मी से राहत मिली। सुबह से लेकर 11.30 बजे तक बारिश हाेती रही। इसी वजह से कई जगहाें पर पानी भी जमा हाे गया।