महिला डॉक्टर, 9वीं का छात्र और आशा वर्कर छठे दिन ही ठीक होकर घर लौटे

  • जिस तेजी से संक्रमित बढ़े, उसी तेजी से ठीक हो रहे, पीजीआई में ठरवा का किसान तो एमएम अस्पताल में भर्ती सभी 21 एक्टिव केस की रिपीट रिपोर्ट निगेटिव
  • नांदेड़ से लौटे चार श्रद्धालुओं का आज पहला रिपीट सैंपल होगा

अम्बाला. अम्बाला में जिस तेजी से कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या बढ़ी थी, उसी तेजी से मरीज ठीक भी हो रहे हैं। रविवार को अम्बाला कैंट की इमरजेंसी मेडिकल अॉफिसर, 9वीं के छात्र और आशा वर्कर को छठे दिन ही अस्पताल से छुट्टी मिल गई। इन सभी की दोनों रिपीट सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव रहीं थी। महिला डॉक्टर को 14 दिन की क्वारेंटाइन लीव दी गई है। जिले में ये 3 केस सबसे जल्दी रिकवरी हुए हैं। इनसे पहले हरजीत कोहली की समधन को 7वें तो एक जमाती को 9वें दिन छुट्टी मिली थी।
यही नहीं मुलाना के एमएम अस्पताल की कोविड यूनिट में भर्ती 20 कोरोना मरीजों की रिपीट सैंपल निगेटिव आई है। रविवार को उनका दूसरा रिपीट सैंपल भी ले लिया गया। इसकी रिपोर्ट निगेटिव रही तो सोमवार को इनको भी छुट्टी मिल जाएगी। इनमें अम्बाला कैंट सिविल अस्पताल की कंस्ट्रक्शन साइट के 16 मरीज, 2 साइट इंजीनियर, निशात बाग का 22 वर्षीय अॉटो चालक और बब्याल के सैनिक नगर की 76 वर्षीय बुजुर्ग शामिल हैं। 2 मई को कैंट सिविल में लिए गए सैंपलों में से ये 23 लोग कोरोना संक्रमित मिले थे। अब सोमवार के उन 4 श्रद्धालुओं का पहला रिपीट सैंपल लिया जाएगा, जो नांदेड़ से लौटे थे। ये चारों मरीज एमएम अस्पताल में भर्ती हैं। डिस्ट्रिक्ट एपेडेमियोलॉजिस्ट डॉ. सुनील हरि ने कहा कि अगर इन सभी के सैंपल की रिपोर्ट सोमवार को निगेटिव आई तो सबकी छुट्टी कर दी जाएगी। अब छुट्टी को लेकर गाइड लाइन बदल गई है और फर्स्ट रिपीट सैंपल निगेटिव आने के बाद ही होम क्वारेंटाइन किया जा सकता है।
इन राहत भरी खबरों के बीच चंडीगढ़ पीजीआई से भी अच्छी खबर आई। वहां भर्ती ठरवा के 42 वर्षीय किसान के पहले रिपीट सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव रही है। सीएमओ डॉ. कुलदीप सिंह ने बताया कि अम्बाला में अब तक 3,649 सैंपल लिए जा चुके हैं। रविवार को 60 सैंपल लिए गए।
रानीबाग में तालियां व थालियां बजाकर छात्र का स्वागत: 4 मई को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जब 9वीं के छात्र को घर से एंबुलेंस में बैठाकर ले जाया गया था, तभी से रानीबाग के इस इलाके में सन्नाटा था। यह सन्नाटा टूटा रविवार को। जब यह छात्र ठीक होकर घर लौटा। पूरे मोहल्ले ने घर की चौखट व छतों पर खड़े होकर तालियां व थालियां बजाकर स्वागत किया। छात्र की मां बोलीं-मेरे लिए इससे बड़ा मदर्स डे का गिफ्ट नहीं हो सकता। मां फार्माकोलॉजी में पीएचडी हैं और पिता का फार्मा का बिजनेस है।

एमएम कोविड यूनिट का रिजल्ट 100%, 16 स्वस्थ होकर निकले
मुलाना के एमएम अस्पताल की कोविड19 यूनिट से अभी तक 16 मरीज स्वस्थ होकर निकल चुके हैं। कोविड यूनिट के नोडल अधिकारी डॉ. एलएन गर्ग और आइसोलेशन वार्ड के इंचार्ज डॉ. मोहित सिंगला कहते हैं कि इस सफलता के पीछे पूरी यूनिट की मेहनत है। यहां से ठीक होकर जाने वालों में 14 साल के बच्चे से लेकर 75 साल की महिला तक शामिल हैं। अब यूनिट में 24 मरीज भर्ती हैं। जिनमें से 20 की पहली रिपीट सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। दूसरी भी निगेटिव रही तो सोमवार या मंगलवार तक छुट्टी मिल जाएगी।

एएनएम को ड्यूटी जॉइन करने को लिखा : 18 अप्रैल को टिंबर मार्केट में स्क्रीनिंग करते हुए न्यू कॉलोनी की जिस एएनएम की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, उसे स्वास्थ्य विभाग ने ड्यूटी जॉइन करने को कहा है। एएनएम की 24 घंटे में ही रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। हालांकि, उन्हें एहतियात के तौर पर होम क्वारेंटाइन किया हुआ था। एएनएम ने बताया कि विभाग ने उन्हें ड्यूटी जॉइन करने के लिए कहा है और एक-दो दिन में वह काम पर लौटेंगी।

सबसे पहले पॉजिटिव युवक का ज्यादातर घर में ही बीत रहा वक्त: सिटी सिविल अस्पताल में लिए सैंपल के बाद 27 मार्च को पंजाब के रामनगर का युवक गुरप्रीत सबसे पहले पॉजिटिव केस के तौर पर सामने आया। जिसकी 13 अप्रैल को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। गुरप्रीत के मुताबिक वह ज्यादातर समय घर में ही समय बिता रहा है। जब वह घर से बाहर निकलता है तब उसे उससे लोग पहले की तरह किनारा करते नहीं दिखते। वह ज्यादातर समय घर में रहता है या फिर छत पर ही टहलता है।