मरीज को बुखार न होने पर 2 दिन में डिस्चार्ज करने की गाइडलाइन पर असमंजस में हरियाणा

पानीपत. केंद्र सरकार की ओर से कोरोना मरीज के यदि दो दिन बुखर न होने पर उन्हें डिस्चार्ज करने के आदेशों पर हरियाणा अभी असमंजस में है। क्योंकि कोरोना का संक्रमण यदि खत्म नहीं हुआ तो वही व्यक्ति परिवार जनों काे भी संक्रमित कर सकता है। ऐसे में हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ओर से इसे लेकर केंद्र के अधिकारियों से संपर्क साधा जाएगा। इसके बाद ही यह आदेश लागू होगा। चिंता इसलिए भी जायज है कि अब लक्षणरहित मरीज भी सामने आ रहेे हैं। ऐसे में केवल बुखार खत्म होने पर ही यह कैसे मान लिया जाए कि कोरोना संक्रमित मरीज ठीक हो गया।
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज इस मामले को लेकर सोमवार को अधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे। उन्होंने आला अधिकारियों से केंद्रीय अधिकारियों से भी इस मसले पर बातचीत करने को कहा है। यह बातचीत होने के बाद आगे कोई निर्णय लिया जाएगा। केंद्र ने अब क्वारेंटाइन पीरियड भी 14 दिन से घटाकर अब सात दिन कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि केंद्र से कई गाइड लाइन मिली है। जिस पर अभी विचार किया जा रहा है। कुछ निर्देशों पर अभी अधिकारियों से केंद्र से स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहा गया है।
सभी का टेस्ट न करने पर भी विचार होगा
केंद्र सरकार की ओर से अब नए आदेशों में सभी के टेस्ट न करने की हिदायत दी गई है। इसे भी हरियाणा में अभी लागू नहीं किया जा रहा। सवास्थ्य विभाग के अफसर केंद्र की गाइड लाइन दिए गए इस लाइन को भी समझने में लगे हैं। क्योंकि यहां कोरोना की जंग में उतरे सभी कर्मचारियों के टेस्ट करने के आदेश दिए जा चुके हैं। अभी केंद्र के आदेशों पर विचार किया जा रहा है। टूरिस्ट वीजा पर आए जमातियों के यहां दूसरे मकसद के लिए काम करने पर उनके खिलाफ कार्यवाही की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। हरियाणा में भी ऐसे 107 जमाती आए थे। इसके अलावा 8 अप्रैल के बाद मिले 29 जमातियों के खिलाफ दर्ज केस के अनुसार कार्यवाही की जाएगी। बाकी जो जमाती ठीक हो गए, उन्हें जाने की इजाजत दी जा रही है।