पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा बोले- इतना बड़ा काम खाली एसएचओ के बस की बात नहीं

  • शराब घोटाले में पकड़े गए आरोपी भूपेंद्र सिंह ने कहा था कि एसएचओ की मदद से शराब बेची थी
  • हुड्डा बोले- हरियाणा में ठेके खुले तो कोई लाइन नहीं लगी, इसका मतलब लॉकडाउन में खुलकर शराब बिकी

चंडीगढ़. हरियाणा में लॉकडाउन के बीच सरकार द्वारा पकड़ी गई शराब की 5000 से ज्यादा पेटियां कम हो जाने के मामले में पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि यह काम अकेले एसएचओ के बस की बात नहीं है लेकिन मैं किसी को दोषी या निर्देश नहीं बता रहा एसआईटी बना दी गई है। उसे काम करने दो। बता दें कि पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपी भूपेंद्र ने कहा था कि उसने एसएचओ के साथ मिलकर शराब की पेटियां बेची हैं।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रेसवार्ता करते हुए पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि देशभर में शराब के ठेके खुले तो लंबी-लंबी लाइनें लग गई लेकिन हरियाणा में शराब के ठेके खुले तो कोई लाइन नहीं लगी। इसका साफ सा मतलब है कि लॉकडाउन में भी शराब धड़ल्ले से बेची गई। उन्होंने सरकार पर भी सवाल खड़े किए और कहा कि सरकार ने कछुए की चाल से तो इस मामले में एसआईटी गठित की है।

हरियाणा में शराब के ठेकों का समय पूरा होने पर भी उन्हें छूट दे दी गई। 365 दिन की बजाए, उन्हें 377 दिन के लिए शराब के ठेके व होलसेल गोदाम चलाने की परमिशन दी गई। इस पर पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि गरीब आदमी पर तो सरकार तेल, रोडवेज का किराया और दूसरे बोझ बढ़ा रही है लेकिन शराब ठेकेदारों को रियायत दे रही है। गरीबों की मदद करनी चाहिए।