पीजी में लगी आग के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की

  • 22 फरवरी को सेक्टर-32 के पीजी में शॉर्ट सर्किट से लगी थी आग
  • हादसे में तीन लड़कियाें की गई थी जान, दो लड़कियां हुई थीं घायल

चंडीगढ़. सेक्टर-32 के एक पीजी में 22 फरवरी को आग लग गई थी और इस हादसे में 3 लड़कियों की जान चली गई थी। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों गौरव अनेजा और नितेश बंसल के खिलाफ चार्जशीट फाइल की है। जिस बिल्डिंग में आग लगी थी, उसका मालिक गौरव अनेजा था, जबकि नितेश बंसल उसे किराए पर लेकर वहां पीजी चला रहा था।

इस मामले में तीसरा आरोपी नीतीश पोपली फरार है। इस पीजी में नीतीश पाेपली भी पार्टनर था और वह घटना के दिन से फरार चल रहा है। इन तीनों के खिलाफ सेक्टर-34 थाना पुलिस ने आईपीसी की धारा 336 304 और 36 के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

ये था मामला
22 फरवरी को सेक्टर-32 के पीजी में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई थी। इस हादसे में 19 साल की रिया, 20 साल की पाक्षी और 21 साल की मुस्कान की जान चली गई थी, जबकि दो लड़कियां इस हादसे में घायल भी हुई थीं। सेक्टर-32 का पीजी अवैध रूप से चल रहा था और यहां छोटे-छोटे कमरों में 30 से ज्यादा लड़कियां रह रही थीं। गौरव अनेजा ने अपनी बिल्डिंग को पीजी के लिए बंसल और पोपली को एक लाख रुपए महीने के किराए पर दिया हुआ था|