गोहाना में ट्यूबवेल से दूसरे खेत में पाइप लाइन बिछाते वक्त तीन मजदूर मिट्टी में दबे, तीनों की मौत

  • रविवार और सोमवार की दरमियानी रात की घटना
  • जब तक दूसरे मजदूरों ने बाहर निकाला हो चुकी थी मौत

गोहाना. गोहाना के लाठ गांव में एक ट्यूबवेल से दूसरे खेत तक पानी पहुंचाने के लिए पाइप लाइन बिछाते वक्त बड़ा हादसा हो गया। इस दौरान काम कर रहे तीन मजदूर मिट्टी के नीचे दब गए, जिससे तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। दूसरे मजदूरों ने उन्हें निकालने की कोशिश की लेकिन जब तक बाहर निकाला गया, तब तक मौत हो चुकी थी। पुलिस ने जमीन मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

मिट्टी में दबे तीनों मजदूरों को जब तक अंदर से निकाला गया, उनकी मौत हो चुकी थी।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक लाठ गांव के प्रदीप ने अपने खेत में लगे ट्यूबवेल से दूसरे खेत तक पाइप लाइन बिछवानी थी। रविवार और सोमवार की दरमियानी रात को पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा था। इस काम में छह मजदूर लगे हुए थे। ट्यूबवेल से दूसरे खेत के बीच में एक सड़क है। रात में वहां करीब 6 से 7 फुट की खुदाई करके पाइप बिछाने का काम जारी था।

इस काम में लाठ गांव का मुकेश (42), अजीद (33) और पानीपत का प्रदीप (22) लगे हुए थे। अचानक से तीनों के ऊपर मिट्टी का बड़ा सा हिस्सा गिर गया। इससे तीनों नीचे दब गए। ऐसा होता देख दूसरे मजदूरों में भगदड़ मच गई। वे उन्हें निकालने के लिए आनन-फानन में दौड़े। जेसीबी मंगाई गई लेकिन जब तक तीनों को बाहर निकाला। उनकी मौत हो चुकी थी।

घटना की जानकारी मिलने पर सदर थाना गोहाना से पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। वहीं मृतक के परिजनों की शिकायत पर खेत मालिक प्रदीप के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।