गेहूं की 35449.9 एमटी तथा सरसों की 69609 एमटी खरीद, उठान कार्य धीमा

  • खुले आसमान के नीचे रखी हैं हजारों क्विंटल फसल, बारिश बढ़ा सकती है एजेंसियों की परेशानी
  • लदान के बाद ट्रक गोदामों में खाली होने में लग रहा काफी समय
  • माैसम वैज्ञानिकों का अनुमान: 3 दिन परिवर्तित रहेगा मौसम

रेवाड़ी. जिलाभर में सरसों के लिए 11 और गेहूं के लिए 10 खरीद केंद्रों पर खरीद कार्य चल रहा है। रविवार को शाम पांच बजे तक खरीद एजेंसी हैफेड व वेयर हाउस की ओर से 1270 एमटी सरसों की खरीद की गई है।
सरकार द्वारा गेहूं 1925 रुपए तथा सरसों 4425 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीद की जा रही है। बता दें कि शनिवार तक जिला में गेहूं की 35449.9 एमटी तथा सरसों की 69609.63 एमटी खरीद हुई थी। डीसी यशेंद्र सिंह ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग को मेनटेन करने के लिए जिला के सभी खरीद केंद्रों में दो शिफ्ट में फसल की खरीद हो रही है। सरसों की खरीद के लिए 11 केंद्र व गेहूं की खरीद के लिए 10 केंद्र बनाए गए हैं। सभी मंडियों व खरीद केंद्र पर आने वाले किसानों के हाथ सेनिटाइज किए जा रहे हैं और थर्मल स्क्रीनिंग भी की जा रही है।
इधर, सबसे बड़ी दिक्कत इस समय मंडियों में उठान की है। उठान कार्य धीमा होने से फड़ों पर ढेरियां लगी है। नई अनाज मंडी में टीन शैड के अंदर फड़ भर गए और अब बाहर भी खरीद हो रही है। कट्टों के ढेर भी बाहर लगे हैं। अब माैसम वैज्ञानिकों ने अगले तीन दिन खराब मौसम भी बताया है। ऐसे में बारिश आती है तो गेहूं व सरसों भीग सकती है। आढ़तियों ने भी उठान में तेजी लाने की मांग की है। वहीं ट्रक चालकों का भी कहना है कि लदान के बाद गोदामों में ट्रक खाली होने में भी समय लग रहा है। दो से तीन दिन तक ट्रक खाली नहीं हो पाते हैं। उन्होंने भी उठान के बाद ट्रकों को गोदामों में खाली भी समय पर कराने की मांग की है।