खेत में मजदूरी करने गए 12वीं के छात्र पर गिरी बिजली, मौत

  • मां ने खेत जाने से रोका तो कहा था-2 घंटे में आ जाऊंगा
  • घर की आर्थिक स्थिति कमजोर, इसलिए खेत में मजदूरी करने गया था
  • छात्र के पिता दिव्यांग, एक बहन की बीमारी से हो चुकी है मौत

कैथल. गांव बीरबांगड़ा में आसमानी बिजली गिरने से 12वीं के छात्र की मौत हो गई। छात्र दो बहनों का इकलौता भाई था। गांव बीरबांगड़ा निवासी 18 वर्षीय अमन पुत्र रघुबीर तूड़ी का कूप बांधने के लिए अपने अन्य साथियों के साथ खेत में गया था। रविवार को सुबह 11 बजे अचानक तेज अंधड़ व बरसात हाे रही थी। अासमानी बिजली गिरने से अमन गंभीर रूप से झुलस गया। गंभीर अवस्था में साथियों ने उसे राजौंद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।

जहां उसे कैथल के निजी अस्पताल में ले जाया गया। कैथल पहुंचने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। डेढ़ वर्ष पहले अमन की एक बहन की बीमारी के कारण मौत हो गई थी। पिता रघुबीर मेहनत मजदूरी करके घर का गुजारा चला रहा है। अमन राजौंद के सरकारी स्कूल में 12वीं कक्षा का छात्र था। लॉकडाउन में छुट्टियां होने के कारण वह अक्सर दिहाड़ी करने के लिए खेत में चला जाता था।
मां से कहा था जल्दी वापस आऊंगा| अमन सुबह जब दिहाड़ी पर जाने लगा तो मां ने उसे रोका भी था। उसने यह कहा कि मां दो तीन घंटे में काम पूरा करके वापस आ जाऊंगा और कुछ पैसे भी मिल जाएंगे। इस समय दो बहनों में अमन छोटा था। घर की आर्थिक स्थिति बहुत नाजुक है। अमन का पिता भी दिव्यांग होने के कारण थोड़ा बहुत ही कमा पाता है।