कोरोना से लड़ाई; वायरस की चेन तोड़ने को पॉजिटिव मिली महिलाओं की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 26 सैंपल और लिए गए

  • कंटेनमेंट जोन में थर्मल स्क्रीनिंग से तलाशे खांसी, जुकाम, बुखार के 7 मरीज, इनके भी सैंपल लिए

रेवाड़ी. शहर के सेक्टर-4 में कोरोना पॉजिटिव मिली महिलाओं की कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर सैंपल लेने का सिलसिला जारी है। कापसहेड़ा से 2 मई को लौटने के बाद अगले 4 दिनों के दौरान उक्त महिला के साथ ही संक्रमित मिली पड़ोसन काफी लोगों से मिलीं थी। इसी आधार पर रविवार को 26 और लोगों के सैंपल लिए गए हैं। इनकी सभी की सैंपल जांच के लिए पीजीआई रोहतक लैब में भेजे गए हैं। इसके अलावा सब्जी मंडी से भी अभी तक राहत की खबर आ रही है। मंडी से जुड़े 100 से ज्यादा लोगों की रिपोर्ट आ चुकी है, जो कि सभी निगेटिव मिली हैं। कुछ रिपोर्ट आनी बाकी है। वहीं कनटेनमेंट जोन घोषित हुए सेक्टर-4 के आसपास के क्षेत्र में रविवार से सख्ती और बढ़ा दी गई। कई गलियों को बंद रखने के लिए तो बाकायदा जमीन में लकड़ी गाड़कर रस्से बांध दिए गए। यहां पर बाहरी और आंतरिक आवागमन पूरी तरह रोक दिया गया है।
कापसहेड़ा हॉटस्पॉट, वहीं से आई थी महिला
दिल्ली के कापसहेड़ा में सप्ताहभर पहले एक ही जगह पर 58 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे। इससे वहां प्रशासन हाई अलर्ट हो गया था। रेवाड़ी के सेक्टर-4 में रह रही महिला के पति आर्मी में हैं। उसका मायका भी दिल्ली के कापसहेड़ा में ही है। महिला की मां कैंसर पीड़ित हैं। 2 मई को ही महिला अपने बेटा-बेटी के साथ कापसहेड़ा से लौटी थीं। महिला का भाई कापसहेड़ा में पॉजिटिव मिलने के बाद महिला अपनी बेटी को लेकर निजी अस्पताल गई। बच्ची की तबीयत कुछ ठीक नहीं थी। इसके बाद सिविल हॉस्पिटल में सैंपल लिए गए। विभाग ने पड़ोसियों तक के सैंपल लिए। इसमें एक पड़ोसन भी पॉजिटिव मिली।

कंटेनमेंट और बफर जोन दोनों में स्क्रैनिंग और स्क्रीनिंग की जा रही
सेक्टर-4 में कोविड-19 पॉजिटिव मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम उक्त लोगों की कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग कर रहा है। ताकि ये पता लगाया जा सके कि 2 मई के बाद वे किन किन लोगों से मिले। इसी के आधार पर सैंपल लिए जा रहे हैं। रविवार को 26 और लोगों के सैंपल लिए गए। कोरोना केस मिलने के बाद विभाग ने कनटेनमेंट जोन बना दिया था। इसमें सेक्टर 4, शक्ति नगर, कृष्णा नगर का हिस्सा, कमला नगर का हिस्सा व पीवरा की ढाणी का हिस्सा शामिल है। इस कनटोनमेंट जोन में विभाग द्वारा थर्मल स्क्रीनिंग का काम किया गया है। जिसमें खांसी, जुखाम, बुखार व सांस लेने में तकलीफ आदि से पीडि़त 7 लोग मिले। एहतियात के तौर पर इन सभी के सैंपल लिए गए हैं। अधिकारियों का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना के संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए कनटोनमेंट व बफर जोन में निरंतर स्केनिंग व स्क्रीनिंग का काम किया जा रहा है। किसी भी नागरिक को खांसी, जुखाम, बुखार व सांस लेने में तकलीफ होने पर तुरंत सिविल अस्पताल में डॉक्टर से परामर्श करें, ताकि जिले में वायरस को फैलने से रोका जा सके।
सेनेटाइजेशन वर्क… बिठवाना सब्जी मंडी कल से 3 दिन के लिए बंद

एसडीएम रविन्द्र यादव ने बताया कि बिठवाना सब्जी मंडी 12 मई से लेकर 14 मई तक 3 दिन के लिए बंद रहेगी। बिठवाना सब्जी मंडी में तीन दिनों तक फल व सब्जी की दुकानों का विशेष सेनिटाइजेशन होगा। इस सेनिटाइजेशन अभियान के दौरान बिठवाना सब्जी मंडी में सब्जी और फल की दुकानें पूर्ण रूप से बंद रहेंगी। प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि आदेशों की अवहेलना करने वालों के विरूद्घ आवश्यक कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने सचिव मार्केट कमेटी रेवाड़ी को निर्देश दिए कि वे आदेशों की सख्ती से पालना करवाना सुनिश्चित करें। कार्यकारी अधिकारी व सचिव नप रेवाड़ी को सब्जी मंडी को सेनेटाइज करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना बुलेटिन : 419 लोगों की रिपोर्ट बाकी
स्वास्थ्य विभाग द्वारा अभी तक 1803 सैंपल लिए गए हैं। इसमें सेक्टर-4 में तीन कोविड पॉजिटिव हैं। जबकि 1381 की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। इनमें सब्जी मंडी से जुडे लोग भी शामिल हैं। इसके अलावा 419 सैंपल की रिपोर्ट आने का इंतजार है। जिलाभर में 1979 होम क्वारेंटाइन हैं।

बेकरी संचालक के संक्रमित होने की फैली अफवाह
शहर में मां-बेटी के साथ ही उनकी पड़ोसन भी संक्रमित मिली हैं। बताया गया कि उक्त महिला से नाते में समधी लगने वाले एक रिश्तेदार भी मिले थे, जो कि शहर में बेकरी चलाते हैं। रविवार को बेकरी संचालक के कोरोना पॉजिटिव होने की अफवाह फैली रही। इस पर बेकरी संचालक को भी सफाई देनी पड़ी कि वे उक्त रिश्तेदार महिला से लंबे समय नहीं मिले हैं। इसलिए उनके कोरोना पॉजिटिव होने का मतलब ही नहीं है। इससे उनके आसपास रहने वाले लोगों और साथी बेकरी संचालकों ने भी राहत की सांस ली है।