कोरोना पॉजिटिव युवक के संपर्क में आए 7 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव, बलराज नगर में आज से 4 टीमें करेंगी स्क्रीनिंग

  • कौल क्वोंटाइन सेंटर में रोकर सभी 9 सदस्यों के सैंपल लिए

कैथल. शनिवार को पॉजिटिव पाए गए बलराज नगर के 23 वर्षीय युवक शुभम के संपर्क में आए सभी सात लोगों को रिपोर्ट निगेटिव मिली है। इनमें युवक के परिवार के पांच सदस्य और दो दोस्त शामिल थे। विभाग ने युवक के पॉजिटिव आने के बाद ही इनको आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर सैंपल जांच के लिए भेजे थे। इसके अलावा बलराज नगर की दो गलियों को सील कर कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है और तीन किलोमीटर एरिया को बफर जोन में रखा गया है। कंटेनमेंट जोन में आने-जाने पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी। प्रशासन ने एरिया को सेनिटाइज भी किया। इसके अलावा रविवार को बारिश के कारण एरिया में स्क्रीनिंग का कार्य नहीं हो सका। स्वास्थ्य विभाग की चार टीमें चार गलियों में 0, 1, 2 और 3 के 866 परिवारों के 5200 सदस्यों की स्क्रीनिंग का कार्य सोमवार से शुरू करेंगी।
गुरुग्राम से आए एक और परिवार ने बढ़ाई परेशानी| देर रात गुरुग्राम से एक परिवार कैथल लौटा। परिवार ने स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ा दी, क्योंकि दो दिन पहले गुरुग्राम से लौटा युवक पॉजिटिव पाया गया था। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी मिलते ही सभी सदस्यों को कौल क्वारेंटाइन सेंटर में भेज दिया है। रविवार को कौल सेंटर से 9 सैंपल भी लिए गए हैं। बताया जा रहा है कि ये गुरुग्राम से लौटे परिवार के सदस्यों के सैंपल हैं।

राशन, दूध व जरूरी सामान पहुंचाने की जिम्मेदारी एसडीएम को सौंपी
डीसी सुजान सिंह ने बताया कि कंटेनमेंट जोन में 50 परिवार और 259 सदस्य रहे हैं। एरिया पूरी तरह सील कर दिया गया है, इसलिए हर घर तक जरूरी सामान पहुंचाने की जिम्मेदारी एसडीएम को सौंपी गई। एसडीएम कमलप्रीत कौर ने बताया कि एरिया के हर घर में संबंधित अधिकारियों के नंबर दे दिए गए हैं। एक फोन कॉल पर जरूरी सामान घर भिजवाया जाएगा।

60 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव, आज 41 लिए
युवक के संपर्क में आए सदस्यों समेत शनिवार को 60 सैंपल लिए थे। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। रविवार को 41 सैंपल लिए हैं। इनमें से 9 सैंपल कौल क्वारेंटाइन सेंटर और 32 सैंपल जिला अस्पताल के फ्लू क्लीनिक से लिए हैं। जिले से 1504 सैंपल लिए हैं, जिनमें से 1459 की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। तीन पॉजिटिव केस मिले हैं, जिनमें से दो ठीक हो चुके हैं और एक एक्टिव केस है। इसके अलावा 72 लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर और 12 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।

एक और नया केस कैथल में आ गया है और हमें सतर्क होने की जरूरत है। अब पहले से भी ज्यादा लॉकडाउन और आदेशों की पालना करने की जरूरत है। युवक की हिस्ट्री ज्यादा नहीं होने से कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा नहीं है, लेकिन फिर भी एरिया के सभी लोगों के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी।
हरदीप दून, आइजी एवं नोडल अधिकारी