कृषि कॉलेज में हर सप्ताह लगेगी विद्यार्थियों की कोर्स से संबंधित ऑनलाइन कक्षाएं, अलग-अलग होंगे सत्र

रेवाड़ी. देशभर में लॉकडाउन का तीसरा चरण जारी है, कई दिनों से शिक्षण संस्थान बंद हैं। ऐसे में जिला के एकमात्र कृषि कॉलेज बावल की ओर से विद्यार्थियों की पढ़ाई के लिए खास पहल की गई है।
विद्यार्थियों को उनके कोर्स से संबंधित ऑनलाइन कक्षाएं ली जा रही हैं। जिसमें अलग-अलग विषयों को शामिल किया गया है। पिछले सप्ताह में व्यक्तित्व विकास विषय पर ये कक्षाएं लगी थी। इसमें एक बार में 30 बच्चों को वाट्सएप पर जोड़कर उनको शाम के समय दो-दो घंटे यह ट्रेनिंग दी जाती है। इसका मकसद है कि विद्यार्थियों में रचनात्मकता व उनके व्यक्तित्व का विकास करना है। अब इस सप्ताह में दो ट्रेनिंग और दी जानी है। इसकी तारीख और समय अभी निर्धारित नहीं हो पाया है। इसमें बाहर से भी रिसोर्स पर्सन जुड़ते हैं, जो विद्यार्थियों को अपने अनुभव बताते हैं।
इस सप्ताह में ट्रेनिंग के दो विषय : कषि कॉलेज के प्राचार्य डॉ. नरेश कौशिक के अनुसार इस सप्ताह में जो ट्रेनिंग होगी, उनके विषय पहला तो कम्युनिकेशन स्किल है। इसके माध्यम से विद्यार्थियों में बाेलचाल की भाषा को सुधारने के प्रयत्न रहेंगे। यह ट्रेनिंग 4 दिन की रहेगी। वहीं दूसरा विषय कोरोना वायरस से बचाव व जागरूकता है। इस दौरान विशेषज्ञ विद्यार्थियों को घरों पर रहते हुए किस तरह कोरोना से बचाव करें। क्या सावधानी रखें और अन्य जानकारियां देंगे। इस विषय पर यह ट्रेनिंग दो दिन की रहेगी।
अावेदन अप्लाई के लिए 20 मई अंतिम तिथि : कृषि कॉलेज में विभिन्न कोर्सों में आवेदन के लिए अंतिम तिथि फिलहाल 20 मई निर्धारित है। रेवाड़ी में बीएससी ऑनर्स 4 वर्षीय व 6 वर्षीय पाठ्यक्रम के अलावा एमएससी व पीएचडी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 20 मई के बाद टेस्ट होता है या फिर और तिथि आगे बढ़ती है, यह विश्वविद्यालय स्तर पर मंथन चल रहा है।