स्वास्थ्य विभाग ने की माजरा व राजथल के ग्रामीणों की जांच

  • बुजुर्ग व्यक्तियों, महिलाओं की शुगर, बीपी तथा दैनिक दवाई लेने वालों का भी स्वास्थ्य जांचा

नारनौंद. उपस्वास्थ्य केंद्र माजरा व राजथल में दूसरे राज्यों से आने वाले, सब्जी विक्रेताओं, फेरी वालों आदि व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की जांच की। बुजुर्ग व्यक्तियों, महिलाओं की शुगर, बीपी तथा दैनिक दवाई लेने वाले व्यक्तियों की भी मोबाइल हेल्थ टीम ने जांच की।
फार्मासिस्ट राजेंद्र सिंह व एमपीएचडब्लू सतीश कुमार ने बताया कि उपस्वास्थ्य केंद्र माजरा में गेहूं बेच कर आने वाले किसानों में कोरोना संक्रमण की जांच की ताकि अगर किसी व्यक्ति में यह लक्षण मिले तो उनको जल्दी से अन्य व्यक्तियों से संपर्क में आने से बचाया जा सके और उसका इलाज शुरू कर सकें। क्योंकि यह संक्रामक रोग है। एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत जल्दी से फैलता है। इसके साथ-साथ मोबाइल हेल्थ टीम ने गांव में आकर ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच की तथा रोगी व्यक्तियों को दवाइयां भी दी। इसके साथ-साथ दूसरे राज्यों से आये व्यक्तियों में कोरोना वायरस की जांच की। वहीं मोनू जोगी माजरा ने बताया कि यदि यह कोरोना संक्रमण गांव के किसी भी व्यक्ति में हो जाता है तो वह बहुत अधिक व्यक्तियों को संक्रमित कर सकता है। हमें पुलिस कर्मचारियों, डॉक्टरों, सफाई कर्मचारियों का बहुत बहुत आभार प्रकट चाहिए जो दिन रात हमारी
रक्षा कर रहे हैं।
इस अवसर पर ग्राम सचिव विकास सैनी, डॉ़ शिवांगी, परमजीत जोगी, एएनएम मोनिका, आशा वर्कर बीरमति, नीलम, आदि मौजूद रहे।