महिला थाने की हेड कांस्टेबल के इकलौते बेटे की गोली मार हत्या

  • फौज में भर्ती होने के लिए कर रहा था तैयारी, दोस्तों पर हत्या का शक
    अस्पताल में शव को छोड़कर भागे युवक

बेरी. बेरी थाने के अंतर्गत आने वाले गांव छुछकवास में महिला पुलिसकर्मी के 21 वर्षीय पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान मांगावास निवासी सुशील पुत्र राज सिंह के रूप में हुई है। फिलहाल सुशील झज्जर पुलिस लाईन के सरकारी आवास में रह रहा था। सुशील की मां महिला थाने में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात हैं। सुशील की हत्या करने के पीछे कारण क्या रहे। इस बात का तो खुलासा नहीं हो पाया है। मृतक को चार लोग झज्जर के प्राइवेट अस्पताल में एडमिट करवाने के लिए आए थे। इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने बेरी पुलिस थाना प्रभारी को रात को युवक की हत्या की बात बताई। जब तक थाना प्रभारी अस्पताल में पहुंचे तब तक सुशील को अस्पताल में लाने वाले युवक फरार हो चुके थे। पुलिस फुटेज से पहचान कर रही हैं। पुलिस की माने तो सुशील का छुछकवास के युवकों के पास आना जाना है।
शहर की सीसीटीवी फुटेज की जांच करेंगे
थाना प्रभारी जयभगवान यादव ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है और मृतक के शव का पोस्टमार्टम बोर्ड द्वारा करवाया गया। बीती रात साढ़े 10 बजे निजी अस्पताल से सूचना मिली थी कि एक शव को कुछ युवक अस्पताल में लेकर आए हैं। लेकिन पुलिस टीम पहुंची तो सुशील को अस्पताल में लाने वाले गायब हो चुके थे। शहर के सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है।

18 साल पहले उठ गया पिता का साया
सुशील की हत्या के बाद मृतक की मां राजेश देवी पर एक और दुख का पहाड़ टूट पड़ा। राजेश देवी झज्जर महिला थाने में तैनात है और मौजूदा समय में पुलिस लाइन में रहती है। 18 साल पहले सुशील के सिर से पिता का साया उठ गया था। सुशील के पिता भी हरियाणा पुलिस में जवान थे और पूर्व मंत्री करतार सिंह भड़ाना के गनमैन के रूप में काफी समय तक सेवा देते रहे। सुशील उस समय करीब ढाई वर्ष का ही था। पिता के दिमाग की नस फटने देहांत हो गया था। राजेश देवी के पास दो ही बच्चे थे। एक बड़ी लड़की सोनिया। उसे छोटा सुशील था। राजेश देवी ने अपनी बड़ी बेटी को पढ़ा लिखा कर लेक्चरर बनाया और बेटे को भी फौज में भर्ती कराने के लिए रोहतक में कोचिंग करा रही थी।
गलत नाम से भर्ती करा कर भागे थे हत्यारोपी
ऑस्कर अस्पताल के मुताबिक उसे ब्रोट डेड लाया गया। अस्पताल की तरफ से जो सूचना बेरी पुलिस को भेजी गई उसमें यह बताया गया कि बेरी के देव नाम का कोई शख्स अस्पताल में मृत लाया गया है। इस मामले में अच्छेज के मनीष के अलावा छुछकवास के सोमबीर सहित अन्य लोगों के खिलाफ हत्या व हत्या की साजिश का केस दर्ज कराया है। मनीष व सोमबीर दोनों छात्र हैं और यह भी सुशील के साथ 12वीं के छात्र रहे हैं।