बेसहारा पशुओं के लिए गोशाला में दिया 47 क्विंटल हरा चारा

  • कोरोना महामारी में लॉकडाउन के दौरान बेसहारा पशुओं के लिए हरे व सूखे चारे की व्यवस्था कर रह रही है हिंदुस्तान जनकल्याण ऑर्गेनाइजेशन

भिवानी. कोरोना महामारी में लॉकडाउन के दौरान बेसहारा पशुओं व गोशालाओं में चारे की कमी न रहे इसी उद्देश्य से हिंदुस्तान जनकल्याण ऑर्गेनाइजेशन बेसहारा पशुओं के लिए हरे व सूखे चारे की व्यवस्था कर रह रही है। संगठन की तरफ से हर राेज शहर व आसपास के क्षेत्रों में घूमने वाले बेसहारा पशुओं को प्रतिदिन 70 से 75 क्विंटल चारा उपलब्ध करवाया जा रहा है। ऑर्गेनाइजेशन के संयोजक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कौशिक हालुवासिया टीम के साथ 45 दिनों से जानवरों व गायों की सेवा में लगे हुए हैं। रविवार को हालुवास गेट स्थित महताब दास चौक के नजदीक द्वारकाधीश गोशाला में पशुधन विकास बोर्ड के पूर्व चेयरमैन ऋषि प्रकाश शर्मा की उपस्थिति में गायों को 47 क्विंटल हरा व सूखा चारा डाला गया है।
इस दौरान पूर्व चेयरमैन ऋषि प्रकाश शर्मा ने कहा कि इस समय सरकार, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग विभिन्न प्रकार की चुनौतियों का सामना करते हुए जनसाधारण को बचाने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया बहुत ही दर्दनाक दौर से गुजर रही है इस समय हर तरह से साधन संपन्न देश भी कोरोना महामारी नामक खतरनाक वायरस से जूझ रहे हैं जिसका सिर्फ एक ही इलाज है सोशल डिस्टेंसिंग और सरकार की तरफ जारी की गई गाइड लाइन का पालन करना। ऋषि प्रकाश शर्मा ने कहा कि हिंदुस्तान जनकल्याण ऑर्गनाइजेशन बेजुबान पशुओं की सेवा कर एक सराहनीय कार्य कर रही है। ऑर्गेनाइजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कौशिक हालुवासिया ने कहा कि यह अभियान निजी आमदनी से चलाया जा रहा हैं। नगर व्यापार मण्डल के प्रधान भानूप्रकाश शर्मा व वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन के महासचिव प्रो. जगदीप शर्मा ने बताया कि इस कार्य को सुचारु रूप से चलाने के लिए पूर्व चेयरमैन श्रीभगवान वशिष्ठ, अधिवक्ता कांतिचंद्र कौशिक, अधिवक्ता देवकांत शर्मा मित्ताथल, समाजसेवी मदन शर्मा मंढाणिया, पूर्व सरपंच सतबीर शर्मा आसलवास, रोहित कौशिक, अधिवक्ता महेश भारद्वाज, अधिवक्ता मनीष भारद्वाज, अधिवक्ता श्रीकांत भारद्वाज, प्रसिद्ध चिकित्सक डाॅ. नवीन शर्मा, संदीप कौशिक, अधिवक्ता प्रवीण अत्री, डाॅ. पवन शर्मा, जगदीश शर्मा जाटूलोहारी, समाजसेवी सुशील शर्मा गोलागढ़ ने अपना विशेष योगदान देने का आश्वासन दिया।