नवजात बच्ची को रक्त की जरूरत का संदेश पाते ही पहुंचे अस्पताल, 74वीं बार दिया खून

भिवानी. कोरोना वायरस की इस विश्वव्यापी आपदा में हर व्यक्ति व सामाजिक संगठन किसी ने किसी रूप में सामाजिक कार्यों में अपना योगदान दे रहा है। ऐसी ही एक मुहिम शुरू कर रखी है बीटीएम चौक निवासी राजेश डुडेजा ने।
पेशे से फोटोग्राफर राजेश डुडेजा 74वीं बार रक्तदान कर चुके हैं तथा अन्य लोगों को भी रक्तदान के लिए प्रेरित करते रहते हैं। कोरोना वायरस के चलते जब सरकार द्वारा लॉकडाउन लगाया गया, उसी दिन से राजेश डुडेजा ने संकल्प लिया कि वे स्वयं भी रक्तदान करेंगे। उनका कहना है कि लॉकडाउन के चलते चौ. बंसीलाल सरकारी अस्पताल स्थित रक्तकोष में रक्त की कमी थी। राजेश ने वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से रक्तदाताओं को रक्तदान के लिए प्रेरित किया। अब तक 487 यूनिट रक्तदान एकत्रित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि वाट्सएप ग्रुप चलाने वाले मनीष वर्मा के माध्यम से रविवार को दिनोद गेट स्थित अंचल नर्सिंग होम में भर्ती एक नवजात बच्ची जिसका ब्लड ग्रुप ओ पॉजिटिव है, उसे रक्त की जरूरत है का समाचार मिला। राजेश व एक अन्य रक्तदाता खरक निवासी शमशेर सिंह शहर के पुराना बस स्टैंड स्थित फ्रीडम ब्लड बैंक में रक्तदान करने पहुंचे। नवजात बच्ची के पिता बौंद निवासी विकास कुमार ने रक्तदान के लिए राजेश डुडेजा व शमशेर सिंह की सराहना की। शमशेर सिंह ने पहली बार, जबकि राजेश डुडेजा ने 74वीं बार रक्तदान किया है। फ्रीडम ब्लड बैंक के एलटी प्रदीप श्योराण ने कहा कि रक्तदान महादान है। हमें स्वयं भी रक्तदान करना चाहिए और दूसरों को भी रक्तदान के लिए प्रेरित करना चाहिए। अंचल नर्सिंग होम के संचालक डाॅ.विनोद अंचल ने कहा कि उनके अस्पताल में नवजात बच्ची भर्ती थी जिसे रक्त की जरूरत थी।