ट्यूशन फीस के अलावा कोई शुल्क लेने पर होगी कार्रवाई

  • अिभभावकों को नहीं देना होगा कोई अन्य शुल्क, िनजी स्कूलों के लिए निर्देश जारी

हिसार. लॉकडाउन के कारण आमजन की आजीविका के स्रोत सीमित होने के चलते प्रदेश सरकार ने निजी स्कूलों से ट्यूशन फीस के अलावा अन्य कोई भी शुल्क लेने पर रोक लगाई है। सरकार के इन आदेशों की जिला में सख्ती से अनुपालना करवाई जाएगी। यदि किसी अभिभावक की ओर से इस संबंध में किसी स्कूल के खिलाफ शिकायत मिलती है तो संबंधित स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह बात हिसार मंडल आयुक्त विनय सिंह ने कही। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण जब से लॉकडाउन लागू हुआ है तब से हर व्यक्ति की आजीविका पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। इसके दृष्टिगत अभिभावकों को राहत देने के लिए शिक्षा विभाग ने निजी विद्यालयों की फीस एवं शुल्क के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। सरकार के संज्ञान में आया है कि कुछ निजी विद्यालयों द्वारा अभी भी अभिभावकों द्वारा ट्यूशन फीस के अलावा अन्य शुल्क वसूलने की कोशिश की जा रही है। मंडल आयुक्त ने स्पष्ट किया कि निजी विद्यालय मासिक आधार पर केवल ट्यूशन फीस ही लें। अन्य प्रकार के फंड जैसे बिल्डिंग फंड, रखरखाव फंड, प्रवेश शुल्क व कंप्यूटर शुल्क आदि कोविड-19 जैसी असामान्य परिस्थिति के मद्देनजर स्थगित कर दिए जाएं। निजी विद्यालय मासिक आधार पर ली जाने वाली फीस में किसी प्रकार की वृद्धि न करें।