सरकार ने मांगें नहीं मानी तो तेज होगा आंदोलन : पराेचा

  • नगरपालिका व अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों ने सरकार की नीतियों के खिलाफ किया प्रदर्शन

यमुनानगर. सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर नगरपालिका और अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों ने हरियाणा सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस टीम का संचालन कर रहे नगरपालिका के राज्य महासचिव मांगे राम तिगरा, सकसं के जिला प्रधान महिपाल सौदे, जिला सचिव राजपाल सांगवान, अग्निशमन से राज्य प्रेस प्रवक्ता गुलशन भारद्वाज ने करते हुए बताया कि हरियाणा सरकार ने अपने मंत्रियों के मकान भत्ते तो 50000 से बढ़ाकर सीधा एक लाख कर दिया, लेकिन कोरोना महामारी की मुश्किल घड़ी में अपने कर्मचारियों का मनोबल तोड़ने का काम किया है।

सरकारी कर्मचारियों का डीए और एलटीसी को बंद करना, निकाले गए कच्चे कर्मचारियों को ड्यूटी पर वापस न लेना, अग्निशमन के आपातकालीन जैसे विभाग में आउटसोर्सिंग पर फायर ऑपरेटर की भर्ती करना, कोविड 19 से सैनिकों की तरह से लड़ रहे सभी कर्मचारियों को सुरक्षा उपकरण न देकर उनके जीवन की सुरक्षा से खिलवाड़ करना, निजीकरण पर रोक न लगाना सरकार की इन सभी गलत नीतियों के कारण आज सभी कर्मचारी वर्ग में भारी मायूसी छाई है।

सकसं से जोत सिंह रावत, नगरपालिका से शाखा प्रधान राजकुमार धारीवाल और शाखा सचिव प्रवेश परोचा ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि आज हरियाणा में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान करते हुए सभी विभागों के कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया। अगर सरकार ने संघ की इन समस्याओं को नजरअंदाज किया तो आंदोलन को तेज किया जाएगा। इस दौरान बलदीप, जनकराज, राजकुमार, पपला, गुलजार अहमद ने भी कर्मचारियाें काे संबोधित किया।