वृद्धाश्रम में मिला बुजुर्ग महिलाओं को अपनों से बढ़कर सम्मान

कुरुक्षेत्र. पूरे देश में मदर्स-डे पर माताओं के सम्मान में बड़ी-बड़ी बातें कही जा रही हैं, लेकिन वास्तव में बच्चे मां का कितना सम्मान कर रहे हैं। यह वास्तविकता कुरुक्षेत्र के वृद्धाश्रम में देखी जा सकती है। मदर्स-डे पर आयोजित भव्य कार्यक्रम में यहां रहने वाली बुजुर्ग माताओं की आंखें नम हुई तथा उनके मुंह से निकल ही गया कि अपने ही बच्चों ने उन्हें नकार दिया। आज प्रेरणा वृद्धाश्रम में उन्हें अपनों से बढ़कर सम्मान मिल रहा है। प्रेरणा वृद्ध आश्रम में अपने बच्चों द्वारा ठुकराए जाने के बाद यहां केवल आश्रय ही नहीं प्रदान किया जाता है बल्कि संस्था के सदस्य हर त्योहार इन बुजुर्गों के साथ मनाकर अपनेपन का अहसास कराते हैं। वृद्धाश्रम में महिला कौशल गर्ग ने बताया कि यहां उन्हें अपनों से बढ़कर सम्मान मिला है। इन सेवा करने वाले लोगों के लिए दिल से दुआएं निकलती है। इसी प्रकार वृद्धा चरणजीत कौर ने भी कहा कि प्रेरणा वृद्धाश्रम के लोगों ने उन्हें मां से भी बढ़कर सम्मान दिया है। प्रेरणा की अध्यक्षा रेणू खुंगर ने कहा कि भारत में तो हर दिन ही मदर्स डे होता है। बच्चे के बिना तो मां का जीवन ही नहीं है।