लड़की किडनैप करने का आरोपी फरार हुआ तो मकान मालिक के बेटे को ले गई पुलिस

  • यूपी के बागपत से किडनैप कर लड़की को यमुनानगर में रखा था, मकान मालिक की बेटी के मोबाइल से मां को फोन किया तो यूपी पुलिस कर पाई लोकेशन ट्रेस, आरोपी हुआ रात को फरार, लड़की बरामद
  • लड़की को किडनैप कर यूपी से लाने वाला, उसकी बुआ का बेटा और भाभी छत से कूदकर फरार हो गए

यमुनानगर . यूपी से किडनैप हुई लड़की को यमुनानगर में रखा गया था। जिस मकान में लड़की को रखा हुआ था, उसके मालिक की बेटी के फाेन से अगवा लड़की ने मां से बात की। इस पर यूपी पुलिस को लोकेशन ट्रेस हो गई। इसके बाद रात एक बजे पुलिस ने यमुनानगर में रेड की। लड़की कैंप के लक्ष्मी नगर में एक मकान में थी।
यहां पर जब पुलिस ने रेड की तो लड़की को किडनैप कर यूपी से लाने वाला, उसकी बुआ का बेटा और भाभी छत से कूदकर फरार हो गए जबकि लड़की को वहां पर पकड़ लिया। इस दौरान पुलिस ने फरार हुए तीनों का पीछा भी किया, लेकिन वे पकड़ में नहीं आए।
इस बात पर यूपी पुलिस ने मकान मालिक को धमकाना शुरू कर दिया। यूपी पुलिस मौके से बरामद हुई लड़की और मकान मालिक के बेटे को अपने साथ यूपी ले गई। मकान मालिक को कहा कि अगर वह आरोपियों को पकड़ कर देगा तो तभी उसके बेटे को छोड़ेंगे। इस पर रात भर मकान मालिक फरार हुए लोगों को तलाशता रहा। सुबह होने पर उन्हें जोड़िया के पास तलाश लिया गया। उन्हें घेरकर मकान मालिक ने पकड़ लिया। इसके बाद दो कारें किराए पर की गईं और आरोपियों को यूपी लेकर रवाना हो गए। मकान मालिक का कहना है कि उनका कोई कसूर नहीं, इसके बाद भी यूपी पुलिस उन्हें परेशान कर रही है। रात को धमकी दी गई। गालियां तक दी गईं।
ढाई माह पहले यूपी के बागपत से किडनैप हुई थी लड़की| यूपी के जिला बागपत के गांव केकडीपुर निवासी कन्हैया एक लड़की को शादी का झांसा देकर ले आया। यमुनानगर के कैंप में एक प्राइवेट स्कूल के मकान मालिक के यहां उसकी बुआ का बेटा अपनी पत्नी के साथ किराए के मकान में रहता था। वह उनके पास लड़की को लेकर रहने लगा। स्कूल मालिक ने किराया न मिलने पर उनसे कमरे खाली करा लिए। इसके बाद स्कूल मालिक ने ही लक्ष्मी नगर की गली नंबर दो निवासी पुरुषोत्तम के यहां पर किराए पर कमरे दिला दिए। अब एक माह से इनके यहां पर कन्हैया अगवा की गई लड़की को लेकर यहां पर रह रहा था। यहां उसकी बुआ का बेटा भी अपनी पत्नी के साथ रहता था। कन्हैया ने बताया कि वह बागपत के पास बन रहे शुगर मिल में काम करता था। वहीं पर लड़की से उसकी जान-पहचान हुई थी। इसके बाद वह उसे शादी करने के लिए ले आया था।
रातभर तलाश की तो जोड़िया नाके पर पकड़ा| मकान मालिक ने बताया कि जब बेटे को पुलिस ले गई तो वे आरोपियों की तलाश में लग गए। उन्होंने देखा कि जोड़िया नाके पास वे बैठे हैं। जब उसने वहां पर पकड़ने का प्रयास किया तो वे फरार हो गए। पास में एक बाग में जाकर छिप गए। उसने वहां पर अन्य लोगों को बुलाकर उन्हें पकड़ा। इसके बाद जब यूपी पुलिस को फोन कर बताया कि वे पकड़ लिए तो पुलिस कहने लगी कि उन्हें यूपी लेकर आएं। इस पर वे दो कारों को किराए पर कर उन्हें यूपी लेकर रवाना हुए। देर शाम पुलिस ने मकान मालिक के बेटे को छोड़ दिया और वापस अपने घर आए गए थे।
लड़की को बरामद कर यूपी पुलिस चली गई थी| गांधी नगर चौकी इंचार्ज अनिल राणा ने बताया कि यूपी पुलिस लड़की को किडनैप करने के मामले में आई थी। लड़की को एक घर से बरामद कर यूपी पुलिस ले गई थी।

हम सोए थे, रात एक बजे पुलिस ने रेड की तो वे फरार हो गए
मकान मालिक ने बताया कि रात को वे सोए हुए थे। इसी दौरान यूपी पुलिस गांधी नगर चौकी पुलिस के साथ वहां पर आई। उन्हें देखकर कन्हैया, लड़की और उसकी बुआ का परिवार भागने लगा। इस दौरान कन्हैया, उसकी बुआ का बेटा, उसकी पत्नी तो छत से कूदने में सफल हो गए, लेकिन जिस लड़की को कन्हैया लेकर आया था उसे उन्होंने रोक लिया। इसके बाद यूपी पुलिस उन्हें ही दोष देने लगी कि अगवा की गई लड़की को आरोपी ने उन्हीं के शह पर रखा हुआ था जबकि ऐसा नहीं है। यूपी पुलिस इसीलिए उनके परिवार के सदस्य को अपने साथ ले गई। यूपी पुलिस का कहना था कि फरार हुए लोगों को पकड़ कर देंगे तभी उनके परिवार के सदस्य को छोड़ेंगे।