मोस्टवांटेड नशा तस्कर रंजीत सिंह उर्फ चीता सिरसा से गिरफ्तार, एनआईए ने हरियाणा-पंजाब पुलिस के साथ मिलकर पकड़ा

  • सिरसा जिले के बेगू गांव के नजदीक एक मकान में किराये पर रह रहा था आरोपी
  • उसका भाई भी गिरफ्तार, पाकिस्तान के रास्ते आई 532 किलो हेरोइन तस्करी मामले में है आरोपी

सिरसा. पंजाब में अफगानिस्तान से पाकिस्तान के रास्ते लाए गए नमक के बीच छिपाकर लाई गई 532 किलो हेरोइन तस्करी के आरोपी रंजीत उर्फ चीता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए), पंजाब की अमृतसर पुलिस व हरियाणा पुलिस के ज्वाइंट आप्रेशन में चीता को सिरसा के बेगू गांव के एक मकान में पकड़ा गया है। सूचना मिल रही है कि उसके साथ उसके भाई गगन को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस दोनों को सदर थाने में ले गई है, जहां आगामी कार्रवाई की जा रही है।

आरोपी रंजीत उर्फ चीता। पुलिस ने सिरसा जिले से उसके भाई गगन को भी गिरफ्तार किया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पंजाब की अमृतसर पुलिस व एनआईए को गुप्त सूचना मिली थी कि हरियाणा के सिरसा जिले में नशा तस्कर रंजीत उर्फ चीता छिपा हुआ है। शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात को पंजाब पुलिस व एनआईए टीम सिरसा पहुंची। उन्होंने सिरसा के एसपी डॉ. अरूण सिंह को पूरी जानकारी दी और सिरसा पुलिस की बड़ी टीम को साथ लिया।

घर के बाहर मौजूद हरियाणा पुलिस, पंजाब पुलिस व एनआईए की टीम। तीनों टीमों ने संयुक्त आप्रेशन चलाकर आरोपी को गिरफ्तार किया है।

वे डेरा सच्चा सौदा के पास बेगू गांव में पहुंचे और घेराबंदी कर ली। रात के अंधेरे में किसी को सूचना नहीं लग पाई। इसके बाद एक घर में छापेमारी की और रंजीत उर्फ चीता व गगन को गिरफ्तार कर लिया। सूचना मिली है कि रंजीत यहां एक मकान में किराये पर रह रहा था। पुलिस उसे पकड़कर सिरसा सदर थाने ले गई है, जहां आगामी कार्रवाई की जा रही है। डीआइजी सिरसा डॉ. अरुण सिंह का कहना है कि यह संयुक्त आपरेशन था। पकड़ा गया एक नशा तस्कर देशभर में मोस्टवांटेड था। इनसे पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है।

अमृतसर बॉर्डर पर पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान से नमक की बड़ी खेप आई थी। इस खेप में हेरोइन छिपाकर लाई गई थी, जिसे पकड़ा गया था। इस मामले में आरोपी है चिता।

पाकिस्तान से आए नमक में छिपाकर लाई गई थी हेरोइन
बता दें कि 29 जुलाई 2019 को कस्टम ने पाकिस्तान के रास्ते आए नमक की खेप से 532 किलो हेरोइन तथा 52 किलो अन्य नशीला पदार्थ बरामद किया था। यह नमक आया अफगानिस्तान से था, हेरोइन को बोरियों में छिपाया गया था। नमक की यह कन्साइनमेंट अमृतसर के एक व्यापारी ने मंगवाई थी। इंटरनेशनल मार्केट में पकड़ी हेरोइन की कीमत 2700 करोड़ रुपये आंकी गई थई। यह खेप आज तक देश में पकड़ी गई हेरोइन की तमाम खेप में से सबसे बड़ी थी। यह मामला चंडीगढ़ की एनआईए कोर्ट में चल रहा है। इस मामले में पुलिस ने रंजीत उर्फ चीता को भी आरोपी बनाया हुआ था। रंजीत पिछले काफी समय से फरार चल रहा था। पुलिस और एनआईए लगातार उसकी तलाश कर रही थी। आरोप है कि रंजीत के संपर्क पाकिस्तान के आतंकी संगठनों से भी हो सकते हैं।