बिहार के प्रवासी ट्रेन के इंतजार में, यूपी वालाें काे प्रशासन बसाें के जरिए भेज रहा

  • शनिवार को करीब 200 प्रवासियों को उनके गृह राज्य यूपी भेजा गया

यमुनानगर. अपने प्रदेश जाने के इंतजार में बैठे प्रवासियों का इंतजार खत्म हो रहा है। यमुनानगर प्रशासन लगातार उन्हें उनके प्रदेश भेज रहा है। यूपी के प्रवासियों को बसों में भेजा रहा है। इससे उन्हें ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ रहा। क्योंकि बसों को रवाना करना लोकल प्रशासन के हाथ में है। बिहार के प्रवासियों को भेजने के लिए ट्रेन का इंतजाम करना पड़ रहा है। इसलिए उन्हें भेजने में समय लग रहा है। तेजली राधा स्वामी सत्संग भवन में रोके गए बिहार के प्रवासियों को इंतजार है कि कब उन्हें यहां से भेजा जाएगा। एसडीएम दर्शन कुमार ने बताया कि प्रवासियों को भेजने का सिलसिला जारी है। जैसे-जैसे व्यवस्था बन रही है, उन्हें भेजा जा रहा है। बिहार के प्रवासियों को ट्रेन से भेजा जाएगा।
यूपी के प्रवासियों को जोन के हिसाब से भेजा जा रहा : यूपी के प्रवासियों को उनके जोन के हिसाब से भेजा जा रहा है। शनिवार को मथुरा जोन के करीब 180 प्रवासियों को भेजा गया। जबकि शुक्रवार को बागपत जोन के 160 और सहारनपुर जोन के करीब 440 प्रवासियों को यमुनानगर प्रशासन ने हरियाणा रोडवेज की बसों से भेजा गया।
डीसी आफिस पहुंच रहे प्रवासी, लेकिन नहीं मिल रही एंट्री

यमुनानगर और जगाधरी इंडस्ट्री एरिया है। इसलिए ऐसा नहीं है कि यहां पर सिर्फ बिहार और यूपी के प्रवासी ही हैं। यहां पर असम, पश्चिम बंगाल, एमपी तक के प्रवासी हैं। शनिवार को असम के कुछ प्रवासी डीसी आॅफिस पहुंचे। उनका कहना था कि वे अपने घर जाने की परमिशन लेने आए हैं, लेकिन उन्हें पुलिस कर्मियों ने लघु सचिवालय के गेट पर ही रोक लिया।