प्रदूषण का स्तर कई जिलों में बढ़कर हुआ दोगुना, राज्य के 6 जिलों में एक्यूआई पहुंचा 150 के पार

पानीपत. (सुशील भार्गव) लॉकडाउन में छूट दिए जाने के बाद प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ने लगा है। पिछले चार दिनों में ही यह कई जिलों में दोगुना हो गया है। छह जिले ऐसे हैं जहां पर यह 150 के पार पहुंच चुका है। हालांकि इन दिनों में यह अमूमन इससे भी अधिक होता रहा है। अबकी बार करीब 45 दिनों तक चले लॉकडाउन में यह सभी जिलों में 100 के नीचे पहुंच गया था। पर्यावरण वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसा वर्ष 1970 से 1980 के बीच रहा है। वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है और इनसे जो धूल उड़ती है, इससे भी प्रदूषण बढ़ता है। औद्योगिक गतिविधियां भी शुरू हो गई हैं, वहीं रबी फसल की कटाई के बाद शुक्रवार को प्रदेशभर में 355 जगह फसल अवशेष जलाए गए। इससे भी प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगा है।

8 मई को कहां अधिक जले फसल अवशेष

फतेहाबाद में 26, हिसार में 34, झज्जर में 98, जींद में 25, रोहतक में 34, पानीपत में 17, सिरसा मंे 21, सोनीपत में 40, कुरुक्षेत्र में 10, कैथल में 12 जगहों पर फसल अवशेष जलाए गए हैं।