पुलिस ने मंत्री के समक्ष सेनिटाइजर व एंबुलेंस मुहैया कराने की मांग रखी

  • यात्रिका कांप्लेक्स में खेल मंत्री ने कोरोना वॉरियर्स को शॉल व फूल भेंटकर किया सम्मानित

पिहोवा. खेलमंत्री संदीप सिंह ने कहा कि कोरोना वारियर्स के रूप में काम कर रहे सभी सरकारी विभागों के कर्मचारी अपने देश के लिए जान की बाजी लगा रहे हैं।
अपने इन योद्धाओं के साथ पूरा देश कंधे से कंधा मिला कर खड़ा है। इनका और इनके परिवार का ख्याल रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। इसलिए अपने योद्धाओं का सम्मान करके इनका हौसला बढ़ाना बेहद जरूरी है। खेल मंत्री कैथल रोड पर कोरोना वारियर्स के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने नगर पालिका के सफाई कर्मचारियों, स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों और पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों को शाॅल भेंट करके सम्मानित किया। सभी कर्मचारियों को फूल, मास्क और सेनिटाइजर भी दिए गए। खेल मंत्री ने कहा कि ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों की चौकसी की बदौलत यह क्षेत्र अभी तक सुरक्षित है। जबकि यहां एनआरआई लोगों की संख्या अधिक होने के कारण सबसे बड़ा खतरा इससे क्षेत्र में था, लेकिन कोरोना ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों की बदौलत हम इस संकट से अभी तक निपटने में कामयाब रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना ड्राइविंग सीखने के समान है। जिस तरह वाहन चलाते समय एक दूसरे से दूरी बनाकर चलते हैं और अपने साथ दूसरों को भिड़ने से बचाते हैं। उसी तरह इसमें भी दूरी बनाकर बचा जा सकता है। मंत्री ने सभी कर्मचारियों से उनकी समस्याओं को भी जाना।
पुलिस ने मांगा सेनिटाइजर व एंबुलेंस

पुलिस की तरफ से जब मास्क और सेनिटाइजर की डिमांड मंत्री के सामने रखी गई तो उन्होंने तुरंत अपनी गाड़ी से मास्क और सेनिटाइजर मंगवा कर मौके पर ही कर्मचारियों में बांटा। एसएचओ देवेंद्र कुमार ने मंत्री के समक्ष पुलिस को एंबुलेंस उपलब्ध कराने की मांग रखी। जिसे मंत्री ने सरकार से बात करके जल्द पूरा करवाने का आश्वासन दिया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने भी अपनी रिपोर्ट मंत्री के समक्ष रखी।
पंजाब के रास्तों को किया है सील

डीएसपी डीएसपी धीरज कुमार ने खेल मंत्री को बताया कि क्षेत्र की सुरक्षा को देखते हुए पंजाब की तरफ से आने वाले सभी रास्तों पर पुलिस नाके बनाए गए हैं। पंजाब से जो लोग गांवों के रास्ते छुप कर हरियाणा में प्रवेश करते थे। उन्हें रोकने के लिए सीमा से सटे गांवों में ठीकरी पहरे सुनिश्चित किए गए हैं। बिना मूवमेंट पास के किसी को भी यहां आने की अनुमति नहीं दी जा रही है। इस्माइलाबाद थाने के एसएचओ भीमराज ने मंत्री को बताया कि अंबाला की तरफ से आने वाले ग्रामीण रास्तों पर भी पुलिस ने चौकसी बढ़ा दी है ताकि अंबाला की तरफ से चोरी छिपे आने वाले लोगों को रोका जा सके।