दादरी से रवाना हुए 2 हजार 386 प्रवासी मजदूर, भोजन-पानी का किया उचित प्रबंध

चरखी दादरी. साहब, आपका बड़ा उपकार है..जो हमका हमार घर पहुंचाई रहे हो। आज का दिन हमार खातिर बहोत खुशी का है साहब…।
दादरी से अपने घर बिहार जाते समय शनिवार को प्रवासी श्रमिक लक्ष्मण के मुख से ये ही शब्द निकले। उपायुक्त श्यामलाल पूनिया के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन के अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश और बिहार राज्य के 2 हजार श्रमिकों को कोरोना महामारी की पूरी एहतियात के साथ घर भेज दिया है। इनका बाकायदा हैल्थ चेकअप भी करवाया गया है। रास्ते में श्रमिक परिवार व उनके बच्चों के लिए टॉफी, दूध, भोजन आदि की भी व्यवस्था की गई। गांव चरखी स्थित एससीआर स्कूल परिसर से गत रात्रि 43 बसों के जरिए 1 हजार 674 मजदूरों व उनके पारिवारिक सदस्यों को सहारनपुर, मथुरा, शामली एवं बागपत कलस्टर में भेजा गया है।
712 श्रमिकों को भिवानी रेलवे स्टेशन भेजे: शनिवार सुबह 27 बसों में बिहार के 712 श्रमिकों व उनके परिवार के सदस्यों को दादरी से भिवानी रेलवे स्टेशन के लिए रवाना किया गया। ये सभी पूर्णिया जाने वाली रेलगाड़ी से अरहरिया, पूर्णिया, सहरसा, सुपोल, मधेपुरा एवं कटिहार के लिए रवाना हुए।

भिवानी रेलवे स्टेशन पर दादरी प्रशासन की ओर से बाढड़ा के एसडीएम प्रीतपाल सिंह, नगरपरिषद के अभियंता सुंदर श्योराण सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। यह ट्रेन अपराह्न करीब साढ़े 11 बजे रवाना की गई। इसमें भिवानी जिले के 500 व दादरी के 712 श्रमिक सवार थे। सभी यात्री रेल में बैठने के उपरांत काफी खुश नजर आ रहे थे। उनको इस बात की तसल्ली थी कि वे ठीक हालत में अपने घरों को लौट रहे हैं। श्रमिकों ने प्रशासन के अधिकारियों को बार-बार धन्यवाद किया। श्रमिक लालचंद, रवि कुमार, बलभद्र, राजू आदि का कहना था कि उनके लिए भोजन-पानी आदि का पूरा इंतजाम किया गया है। उनसे किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया गया। भिवानी रेलवे स्टेशन पर उनके स्वास्थ्य की जांच करवाई गई। भिवानी के उपायुक्त अजय कुमार व पुलिस अधीक्षक संगीता कालिया ने श्रमिकों को कहा कि वे अपने घर जाकर भी महामारी से सावधान रहे।

अलग अलग शहरों को जाने वाले यात्री

एसडीएम डाॅ. विरेंद्र सिंह ने बताया कि ट्रेन में अरहरिया के 132, कटिहार के 26, पूर्णिया के 163, मधेपुरा के 75, सहरसा के 50 व सुपोल के 266 श्रमिक गए हैं। इसी तरह रात को 18 बसों में सहारनपुर कलस्टर के 749, शामली कलस्टर के 452 मजदूरों को 12 बसों में, मथुरा कलस्टर के लिए 8 बसों में 279 एवं बागपत के लिए पांच बसों में 194 मजदूर रवाना हुए हैं। बसों व ट्रेन में इन यात्रियों को बैठाते समय शारीरिक दूरी का पूरा ध्यान रखा गया है। उन्होंने बताया कि प्रशासन की ओर से प्रवासी श्रमिकों को भेजने के लिए एससीआर स्कूल में बेहतरीन प्रबंध किया गया है। रविवार को भी उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश के लिए मजदूरों को भेजा जाएगा। दादरी तहसीलदार अजय सैनी ने बताया कि उपायुक्त श्यामलाल पूनिया के निर्देशानुसार मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए हर प्रकार की सुविधाएं यहां मुहैया करवाई जा रही हैं।