ट्रक चालक बोले- 5 से 6 दिन में खाली हो रही गाड़ी, भूखे-प्यासे कर रहे रखवाली

  • थानेसर मंडी में उठान से लेकर भुगतान तक न होने से व्यापारी हो रहे परेशान

कुरुक्षेत्र. जिलेभर की मंडियों में साढ़े चार लाख एमटी की खरीद हो चुकी है। 71 प्रतिशत माल मंडियों से उठान का दावा विभाग का है, लेकिन थानेसर मंडी में उठान से लेकर गेहूं की पेमेंट तक की समस्या से व्यापारियों को दो-चार होना पड़ रहा है। थानेसर मंडी में चार से पांच दिन तक गाड़ियां गेहूं लिए खड़ी हैं। लेबर की कमी के कारण ठेकेदार व्यवस्था नहीं बना पा रहा हैं। वहीं ट्रक लेकर चार से पांच दिनों से किरमिच रोड पर खड़े चालकों ने भी शनिवार को ठेकेदार के खिलाफ रोष जताया। आरोप लगाया ठेकेदार के पास जो खुद की निजी गाड़ियां हैं, उन्हें लोड कर पहले उतारा जा रहा है। जबकि उन्हें चार से पांच दिन सड़क पर खड़े गाड़ियों व गेहूं का पहरा देते हो चुके हैं।

मंडी आढ़ती एसोसिएशन का आरोप है डीएफएससी द्वारा थानेसर मंडी के करीब 25 फीसदी व्यापारियों को आजतक एक भी पेमेंट नहीं मिली। आढ़ती एसोसिएशन सदस्य बनी सिंह ढुल व हरविंद्र बंसल ने बताया डीएफएससी की लापरवाही के कारण करीब 25 फीसदी व्यापारियों को अभी तक एक भी पेमेंट नहीं आई। लिफ्टिंग ठेकेदार रोहताश शर्मा ने बताया लोकल स्पेस सुनेहड़ी व जैन राइस मिल दोनों जगह स्पेस फुल हो चुका है। अब समाना-बाहू में विभाग ने माल लगाने को कहा है, लोकल स्पेस फुल होने के कारण कुछ दिक्कत आई। डीएफएससी राजेश्वर मौदगिल ने बताया अधिकतर व्यापारियों को भुगतान निरंतर जारी है, थानेसर मंडी में कुछ व्यापारियों का इश्यू है। उनके खाता नंबर दोबारा मंगवाए हैं, उन्हें अपडेट कर दिया जाएगा। इसके बाद उनके खाते में पैसे डाल दिए जाएंगे।

डीएफएससी के गोदाम के बाहर ट्रक चालकों ने जताया रोष
नई अनाज मंडी थानेसर स्थित डीएफएससी के गोदाम से लेकर किरमिच रोड स्थित जैन राइस मिल दोनों जगह ट्रकों की लंबी कतारें लगी हैं । ट्रक चालक दीपक कुमार, बुटा सिंह, मंदीप सिंह, रिंकू, सोनू, गुरमीत, नीतिन, रघुबीर, रामफल, विक्रम, रणजीत व राजकुमार ने कहा वे पांच से छह दिन से गाड़ियां लोड किए सड़क पर खड़े हैं। गेहूं का भी दिन-रात पहरा देना पड़ रहा है।