चालान काटा तो नप सचिव से धक्का-मुक्की, भुजिया भंडार सील

अम्बाला. एसडीएम के लेफ्ट-राइट फार्मूले पर भी कैंट में दोनों तरफ की दुकानें खोली जा रही हैं। शनिवार दोपहर बाद नगर परिषद सचिव राजेश कुमार जब सदर बाजार चौक पर शिव भुजिया भंडार को बंद कराने पहुंचे तो सचिव के साथ दुकान मालिक ने धक्का मुक्की की। मामला बिगड़ता देखकर सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और इसके बाद शिव भुजिया भंडार को सील कर दिया गया। इसके अलावा सचिव ने दुकान मालिक के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई है।
नप सचिव की टीम सदर बाजार चौक पर शनिवार करीब साढ़े 11 बजे भी बाजारों में कार्रवाई कर चुकी है। शिव भुजिया भंडार में विवाद से पहले पूजा कंफेक्शनरी के मालिक का 200 रुपए का चालान काटा गया था। सचिव ने बताया कि शिव भुजिया से दूसरी तरफ के दुकानदार शनिवार को दुकानें खोल सकते थे। लेकिन जब टीम ने दौरा किया तो पूजा कंफेक्शनरी समेत अन्य दुकानें खुली पाई गई। इसलिए नप की टीम ने कार्रवाई करते हुए 200 रुपए का चालान काटा और इसके बाद सभी दुकानों को बंद करा दिया गया था लेकिन टीम के जाने के बाद सभी दुकानें फिर से खुल गई थी। इसे देखकर दूसरे दुकानदारों ने हैरानी जाहिर की और मामला नगर परिषद तक
भी पहुंचा।
नगर परिषद टीम के सामने कुछ दुकानदारों ने यह भी कहा कि वह रोजाना 200 रुपए के जुर्माने के हिसाब से महीने के 6 हजार रुपए देने के लिए तैयार हैं। लेकिन हमें दुकानें खोलने की अनुमति दी जाए। नगर परिषद का जुर्माना बड़े दुकानदारों और होलसेलर के लिए बहुत कम है। इसलिए दुकानदार जुर्माने की कार्रवाई से बिना डरे ही दुकानें खोल रहे हैं। यह हाल सिर्फ सदर बाजार चौक का नही हैं बल्कि हलवाई बाजार में एक बुक सेलर, दाल बाजार में तेल और करियाना शॉप, पूल चमेली पर पतंग और होलसेलर की दुकानें खुली थी।