चरखी निवासी कांस्टेबल के परिजनों की स्वास्थ्य विभाग टीम ने की स्क्रीनिंग

  • कोरोना पॉजिटिव मिले दो रेलवे के जवानों के साथ रह रहे चरखी निवासी कांस्टेबल की रिपोर्ट आई थी निगेटिव

चरखी. जिले के गांव चरखी निवासी रेलवे पुलिस का जवान दिल्ली के निजी अस्पताल की लैब में काेरोना नेगेटिव पाया गया है। लेकिन उसके दो अन्य साथी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने सूचना के आधार पर तीनों के सैंपल रोहतक पीजीआई जांच के लिए भेजे हैं। वहीं तीनों को नारनौल सिविल अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। दूसरी तरफ दादरी जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आरपीएफ जवान के परिवार का सक्रिनिंग की है और आस पड़ौस के लोगों से पूछताछ भी की है। वहीं पॉजिटिव मरीजों के पास रहने के बाद जिले में भी संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है।

निजी अस्पताल में रिपोर्ट आई पॉजिटिव

नारनौल सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि दिल्ली आरपीएफ (रेलवे पुलिस) में गांव गाेहाना, चरखी और नारनौल के सुराना निवासी तीन कांस्टेबलों ने कोरोना टेस्ट करवाया था। तीनों ने दिल्ली के करोलबाग के निजी अस्पताल जीवनमाला में 5 मई को सैंपल दिए थे। 7 मई को गोहाना व सुराना निवासी दोनों युवकों की रिपोर्ट पॉजिटिव अाई और चरखी निवासी युवक की रिपोर्ट नेगेटिव आई। लेकिन तीनों जवान 5 मई को सैंपल देते ही नारनौल आ गए थे। जहां चरखी निवासी जवान के ससुर ने हुडा सेक्टर 1 में मकान बनाया हुआ है और वहीं पर सभी ठहरे हुए थे।

तीनों को किया आईसोलेट

तीनों आरपीएफ जवान सैंपल के साथ अपने मोबाइल नंबर दे आए थे। जिन्हें 7 मई को रिपोर्ट मिल गई थी। दोनों दोस्त कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद चरखी निवासी जवान भी उनके संपर्क में लगातार था। इसलिए उसने भी दोनों दोस्तों के साथ मिलकर नारनौल सिविल सर्जन से संपर्क कर पॉजिटिव रिपोर्ट आने की बात बताई। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार शाम ही उनके सैंपल पीजीआई रोहतक भेजे। जिसके बाद तीनों को सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवा दिया गया।

ग्रामीणों से हुई पूछताछ

दो पॉजिटिव जवानों के संपर्क में लगातार रहने के बाद चरखी निवासी जवान के परिजनों की समस्या भी बढ़ गई है। जिसके तहत दादरी स्वास्थ्य विभाग की टीम शुक्रवार सुबह गांव चरखी पहुंच गई। ग्रामीणों से पूछताछ की आखिर कांस्टेबल कितने दिन या महीने पहले गांव आया था।

माता, पिता और भाई के परिवार की हुई स्क्रीनिंग

स्वास्थ्य विभाग की टीम शुक्रवार सुबह गांव चरखी पहुंच गई। जहां जाकर उन्होंने जवान के माता पिता और भाई के परिवार की सक्रिनिंग की। लेकिन सभी का स्वास्थ्य सामान्य मिला। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को दी।

परिवार हो सकता था संक्रमित : डिप्टी सीएमओ

डिप्टी सीएमओ व नोडल अधिकारी डॉ. चंचल तोमर ने कहा कि पॉजिटिव लोगों के संपर्क में रहने वाले रेलवे जवान की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ सकती है। मगर एहतियात के तौर पर चरखी निवासी कांस्टेबल के परिजनों की सक्रिनिंग की गई है। जो लगातार 14 दिन तक होगी।