फर्म के मोबाइल मार्केट में फर्जी रसीदों पर बेचे ~8 लाख की चपत लगाने वाले दंपती पर केस

  • फर्जी रसीद पर दुकानदारों से अधिक पैसे वसूले
  • फर्म को पैसा जमा करवाने में दंपती करता रहा आनाकानी

कुरुक्षेत्र. एक कंपनी के मोबाइल मार्केट में बेच दंपती द्वारा फर्जी रसीदें तैयार कर दुकानदारों से अधिक पैसे लेकर कम पैसे जमा करवा फर्म को 8 लाख रुपए की चपत लगाने का मामला सामने आया है। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी दंपती के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। एवीएम इंटरप्राइजेज के मालिक अमित गर्ग ने सिटी थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि उसने खेड़ी मारकंडा वासी प्रदीप को डेढ़ साल पहले शाहाबाद मार्केट के लिए नौकरी पर रखा था। उसका काम आर्डर लेकर फोन देना व पेमेंट एकत्रित कर फर्म में जमा कराना था। काफी दिनों तक प्रदीप ने अच्छे से काम किया। हर महीने उसे वेतन भी दिया गया। दो-तीन महीनों से प्रदीप फर्म का काम ठीक तरह से नहीं कर रहा था। कई बार वह अपनी पत्नी को फर्म पर मोबाइल स्टॉक लेने भेजता था। मोबाइल स्टॉक बेचने के बाद जो रकम मिलती थी उसको समय पर जमा कराने में आनाकानी करने लगा था। 26 सितंबर 2019 को प्रदीप खुद फर्म पर नहीं आया और अपनी पत्नी को भेज दिया। वह कई मोबाइल सेट फर्म से लेकर गई थी।
आरोप है कि प्रदीप व उसकी पत्नी ने मिलीभगत कर फर्म से मोबाइल स्टॉक लेते रहे और दुकानों को बेचने के बाद उन दुकानों से ज्यादा पैसे लेकर फर्म में कम पैसे जमा कराते रहे। गलत व फर्जी रिकार्ड तैयार कर दुकानदारों को फर्जी रसीद देते रहे। फर्म में कम राशि की फर्जी रसीद देते रहे और बाकि का पैसा खुद हड़पने लगे।
शिकायतकर्ता ने आरोपी दंपती से बात की तो उन्होंने फर्म पर आने से मना कर दिया। जब प्रदीप के घर गए तो वहां उसके पिता ने उनके साथ हाथापाई की। शिकायतकर्ता का आरोप है कि प्रदीप ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर फर्जी रसीद व व दस्तावेज तैयार कर फर्म को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच सेक्टर सात पुलिस चौकी प्रभारी रमनदीप कौर को सौंपी है। रमनदीप कौर ने बताया मामले की जांच कर रही हैं, उसके आधार पर ही आगामी कार्रवाई होगी ।