दो दिन में बीमारी से दो लोगों की मौत, कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने तक शव को हाथ तक नहीं लगा पाए परिजन

  • दो दिन में बीमारी से दो लोगों की मौत, कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने तक शव को हाथ तक नहीं लगा पाए परिजन
  • एक को टीबी था और दूसरे का लीवर था डैमेज, दोनों की कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आई

यमुनानगर. कोरोना ने ऐसा डर पैदा कर दिया है कि मौत के बाद भी लोगों को अपनों का शव लेने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। डॉक्टर मौत के बाद भी शव देने को तैयार नहीं होते, जब तक उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट न आ जाए। वहीं परिवार के लोग भी कोरोना जांच से पहले अपनों के शव को हाथ नहीं लगा पा रहे हैं। शुक्रवार को दो मृतक लोगों की कोरोना जांच की रिपोर्ट आई। दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आई। जब तक उनकी रिपोर्ट नहीं आई तब तक शव परिजनों को नहीं दिए गए। मरने वालों में गांव टोपरा निवासी अख्तर अली और जगाधरी वर्कशाॅप निवासी सुभाष शर्मा हैं। अख्तर अली का लीवर डैमेेज हो चुका था। उसके परिवार सदस्यों ने बताया कि वे शराब ज्यादा पीते थे। उनकी वीरवार को ईएसआई अस्पताल में बनाए कोविड सेंटर में मौत हो गई थी। वहीं सुभाष को टीबी की बीमारी थी। उनका इलाज गाबा अस्पताल में चल रहा था। आधी रात को उनका वहां पर निधन हो गया लेकिन शव परिजनों को नहीं दिया गया। शव को सिविल अस्पताल के पोस्टमार्टम रूम में रखवा दिया गया था। जब उनकी रिपोर्ट आई तो शव परिजनों को मिला। ऐसा इन दो परिवारों के साथ नहीं हुआ। कई परिवारों को अपने की मौत के बाद उसका शव लेने के लिए कई घंटे इंतजार करना पड़ा।
रेड जोन से आने वालों को किया जाएगा क्वारेंटाइन| यमुनानगर यूपी से सटा है। वहीं दिल्ली से लेकर पंजाब में यहां के लोगों का आना-जाना रहता है। बहुत से लोग लॉकडाउन में वहां फंस गए थे। इसमें से बहुत से लोग रेड जोन में वहां रह रहे हैं। अगर ये लोग यमुनानगर आ रहे हैं तो उन्हें क्वारंेटाइन किया जा रहा है। पुलिस और स्वास्थ्य विभाग लोगों पर नजर रख रहा है। इसके लिए क्वारंेटाइन सेंटर भी दुरुस्त किए गए हैं क्योंकि जमातियों और प्रवासियों के बाद क्वारंेटाइन सेंटर में कम ही लोग क्वारंेटाइन किए जा रहे थे।

शुक्रवार को 77 रिपोर्ट आई, सभी निगेटिव
सीएमओ डॉक्टर विजय दहिया ने बताया कि शुक्रवार को 77 रिपोर्ट आई हैं जोकि सभी निगेटिव हैं। अब तक 2012 सैंपल में से 1913 की रिपोर्ट आ चुकी है। 1905 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं 8 रिपोर्ट पॉजिटिव थीं। इसमें से तीन लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। 5 का इलाज चल रहा है। उनके दोबारा सैंपल भेजे हैं। शुक्रवार शाम तक 32 सैंपल और भेजे गए थे।

जब मकान मालिक ने किराएदार से कहा-पहले कोरोना टेस्ट करवा कर आओ
मुखर्जी पार्क की विपिन कॉलोनी में विवाद हो गया। रात में किराएदार अपने घर जाने को निकला था लेकिन सवेरे वापस आ गया। इस पर मकान मालिक ने उसे मकान में घुसने से रोक दिया। उससे कहा कि पहले वह कोरोना टेस्ट करा
कर आए।