अस्पतालों में बढ़ने लगी मरीजों की संख्या, ओपीडी पहुंची दोगुनी

  • लोग नहीं कर रहे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

कुरुक्षेत्र. लाॅकडाउन के दाैरान शहर में प्रशासन ने ढील दे दी। प्रशासन की ढील का लाेग गलत फायदा उठाने लगे हैं। जहां बाजारों में जाम के हालात बनने लगे हैं, वहीं अस्पतालों में भी मरीजों की भरमार हाेने लगी है। प्रशासन ने सेामवार काे लॉकडाउन में ढील दे दी।

चार दिनाें से ही अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़कर दोगुना हाे गई है। अस्पतालों में चिकित्सकों को दिखाने के लिए मरीजों का तांता लगने लगा है। शो सल डिस्टेंसिंग को ताक पर रखकर मरीज चिकित्सकों से दवा ले रहे हैं। इस दौरान अस्पताल प्रशासन व मरीजों की ओर से बरती गई छोटी सी लापरवाही विकराल रूप ले सकती है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिला अस्पताल में फिजिशियन, बाल राेग विशेषज्ञ व गायनी की ओपीडी चल रही थी, लेकिन प्रशासन ने हाल ही में अन्या ओपीडी काे भी सूचारू किया है। जिससे अस्पताल में करीब 700 मरीज ईलाज के लिए पहुंच रहे हैं। वहीं सप्ताहभर पहले अस्पताल में 300 से 350 की ओपीडी चल रही थी। वहीं आम दिनों में जिला अस्पताल में दो हजार की ओपीडी पहुंचती थी। अस्पताल में इस समय सबसे ज्यादा मरीज मेडिसन के पहुंच रहे हैं।
मरीजों को नहीं होने दिया जाएगा परेशान

सिविल सर्जन डॉ. सुखबीर सिंह ने कहा कि लॉकडाउन में मिली ढील के कारण अन्य चिकित्सकों की ओपीडी भी खोली गई है। मरीजों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा। मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहिया कराई जाएंगी।

मरीजों को ईलाज में हो रही थी परेशानी
ओपीडी सेवा बंद होने से आम मरीजों को इलाज करवाने में काफी परेशानी हो रही थी। अस्पताल में मरीजों को तीन चिकित्सकों की ही सुविधा मिल रही थी। अब सरकार ने अन्य ओपीडी को भी खोलने के आदेश दिए हैं जिससे आमजन को राहत मिली है।