हादसे के बाद मिलाते रहे इमरजेंसी नंबर, नहीं आई एंबुलेंस, दाे की गई जान

  • थाना रानियां के गांव मेहनाखेड़ा से खारियां रोड पर कार और बाइक की टक्कर, बाइक सवार दो मजदूरों की मौत
  • चार दिन पहले अंधड़ में खराब टेलीफोन लाइन नहीं की दुरुस्त

रानियां. (संजीव सैनी) आपातकालीन सेवाओं के लिए 102,108 नंबर पर दी जाने वाली सेवा पिछले एक सप्ताह से लडख़ड़ा जाने से काफी लोगों को नुकसान झेलना पड़ा है इसी दौरान रानियां क्षेत्र में गत दिवस हुई एक सड़क दुर्घटना में 2 लोगों की जान चली गई।
घटना के समय आपातकालीन सेवा का सहारा लेना चाहा तो कॉल रिसीव न होने के कारण एंबुलेंस सेवा नहीं मिल पाई। जिसके चलते मैहना खेड़ा के एक व्यक्ति की जान चली गई। दूसरे व्यक्ति की जान अस्पताल में पहुंचने के उपरांत हो गई। घटना के समय प्रत्यक्षदर्शियों में अवतार सिंह, बलवंत सिंह ने आपातकालीन सेवा के लिए फोन किया था लेकिन एक घंटे तक फोन रिसीव ना होने के कारण घायल लोगों को समय पर एंबुलेंस सेवा नहीं मिल पाई। घटना के समय कुछ लोगों ने घायलों को उठाकर नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र खारिया में पहुंचाया जहां पर प्राथमिक उपचार के उपरांत रैफर कर दिया। तब तक देर हो चुकी थी जिसके कारण 2 लोगों की जान चली गई। दो अलग अलग परिवारों से संबंध रखने वाले मृतकों के परिजनों को भारी नुकसान हुआ है जिसकी भरपाई कभी भी नहीं हो सकती।
दोनों व्यक्ति दिहाड़ी मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करने वाले थे जिनके ऊपर दो परिवारों की जिम्मेदारी थी। परिवारजनों में अब कमाने वाला कोई नहीं है घटना के तुरंत बाद एंबुलेंस सेवा समय पर मिली होती तो इन लोगों की जान अवश्य बच जाती।

टेलीफोन सेवा प्रभावित होने से दिक्कत

आपातकालीन सेवा के ऑपरेटर विकास ने बताया कि तेज अंधड़ की वजह से टेलीफोन सेवा प्रभावित हुई है। जिसकी उन्होंने शिकायत भी दर्ज करवाई गई है। चार दिन दूरभाष सेवाएं प्रभावित रही है। अभी कई बार आवाज साफ नहीं आती जिसके कारण लोगों को परेशानी हो रही है।

आपातकालीन सेवा दुरुस्त कर दी जाएगी

इस बारे में दूरभाष विभाग के महाप्रबंधक प्रमोद गोदारा ने बताया कि आपातकालीन सेवा केंद्र के फोन नंबर की शिकायत मिली है जिसे ठीक कर दिया गया है। यदि अब भी कोई समस्या आ रही है तो जांच करके आपातकालीन सेवा दुरुस्त कर दी जाएगी।