स्पेशल ट्रेन से बिहार जाने वाले श्रमिकाें के पास कॉल कर पूछेंगे रेलवे अफसर

  • सीआईडी और रेलवे कर्मचारियाें ने अधिकारियों काे श्रमिकाें का पूरा ब्याेरा माेबाइल नंबर समेत भेजा
  • हेलाे‌… मैं महाप्रबंधक, बाेल रहा हूं, सफर में कोई दिक्कत ताे नहीं आई

हिसार. (महबूब अली) हेलाे मैं उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक, डीअारएम, सीनियर डीसीएम बाेल रहा हूं। आपको सफर में किसी तरह की काेई दिक्कत ताे नहीं आई है। यदि रेलवे अधिकारियों के कारण परेशानी आड़े आई है ताे हमें बताइए तुरंत कार्रवाई की जाएगी। आपका नाम गाेपनीय रखा जाएगा। इस तरह की काॅल जल्द प्रदेश के हिसार के अलावा फतेहाबाद, महेंद्रगढ़ आदि जिले से स्पेशल ट्रेन में बिहार पहुंचे श्रमिकाें के पास रेलवे अधिकारियों की पहुंच सकती है। काॅल कर अधिकारी श्रमिकाें काे सफर के दाैरान आने वाली परेशानी के बारे में पूछेंगे।
सरकार के निर्देश पर रेलवे ने हाल ही में हिसार से श्रमिक स्पेशल दाे ट्रेन चलवाई। दाेनाें ट्रेनाें में बिहार के मुजफ्फरपुर, दरभंगा, पटना, कटिहार समेत कई जिले के 2400 श्रमिकाें काे भिजवाया गया। सूत्राें के अनुसार रेलवे के अधिकारियों काे श्रमिकाें का पूरा ब्याेरा उपलब्ध कराया जा रहा है। एक सप्ताह के अंदर उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक, डीअारएम, सीनियर डीसीएम व अन्य अधिकारी किसी भी श्रमिक के पास काॅल कर सफर के दाैरान आने वाली परेशानी के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। यदि अधिकारियों काे श्रमिक ट्रेन में सफर के दाैरान किसी भी तरह की परेशानी के बारे में जानकारी देते हैं ताे जिम्मेदार रेलवे अफसर के खिलाफ भी कार्रवाई की जा सकती है। बीकानेर डिविजन के सीनियर डीसीएम जितेंद्र कुमार मीणा का कहना है कि श्रमिकाें काे किसी भी तरह की परेशानी नहीं हाे, इसका पूरा ध्यान रखा गया है। श्रमिकाें का पूरा ब्याेरा भी मांगा गया है। जांच में यदि रेलवे की वजह से श्रमिकाें काे किसी तरह की परेशानी आने की बात सामने आई ताे संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई भी की जा सकती है।

श्रमिकाें से यह सवाल पूछे जा सकते हैं
रेल सफर के दाैरान किसी तरह की परेशानी ताे नहीं हुई।
किसी रेलवे के कर्मचारी और अधिकारी ने अभद्रता ताे नहीं की।
ट्रेनाें में पानी औैर शाैचालय की व्यवस्था कैसी रही।
डिस्टेंस बनाने के लिए रेलवे स्टेशन पर काेई तैनात था या नहीं।
रेलवे स्टेशन और सफर के दाैरान खाना मिला या नहीं।
अधिक संख्या में श्रमिकाें ने रजिस्ट्रेशन कराया ताे जल्द चलेगी श्रमिक स्पेशल ट्रेन
बिहार व अन्य स्थानाें के श्रमिकाें के लिए जल्द ही स्पेशल श्रमिक ट्रेन चल सकती है। हालांकि अभी श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए काेई आधिकारिक घाेषणा नहीं की गई है। श्रमिक आनॅलाइन रजिस्ट्रेशन कराने में लगे हुए हैं। हरियाणा विस के डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा ने बताया कि श्रमिक अभी भी घर जाने के लिए रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं। जल्द ही श्रमिकाें के लिए एक और स्पेशल श्रमिक ट्रेन चलाई जा सकती है। हालांकि यह श्रमिकाें की संख्या पर डिपेंड करेगा। बिहार हाे या फिर अन्य प्रदेश के श्रमिकों काे परेशानी का सामना नहीं करने दिया जाएगा।

साहब, हमें भी पहुंचा दाे घर : उत्तराखंड के देहरादून के मनाेज कुमार, विमल कुमार, सूरज कुमार, सुनील राम, सागर कुमार ने प्रशासन से मांग की है कि बिहार के श्रमिकाें की तरह उन्हें भी उनके प्रदेश पहुंचाया जाए। कहा कि घर नहीं जाने के कारण परिवार काे परेशानी हाे रही है। स्पेशल ट्रेन या बस चलवाने की मांग की।