सिरसा को मिले दो वेंटीलेटर, डॉक्टर को भी ट्रेनिंग पर भेजा

  • लॉकडाउन में ढील मिलने के बाद संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है इसलिए स्वास्थ्य विभाग भी पूरी तरह सतर्क हुआ

सिरसा. लॉकडाउन में ढील मिलने के बाद सोशल संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इसलिए स्वास्थ्य विभाग भी पूरी तरह सतर्क हो गया है और विभाग ने अपनी तैयारियों की एक बार फिर समीक्षा शुरू कर दी है। सिरसा काेविड-19 अस्पताल को दो नये वेंटीलेटर मिल गए हैं। अस्पताल प्रशासन ने वेंटीलेटर लाने के लिए गाड़ी को रवाना कर दिया है और साथ ही एक डॉक्टर को भी ट्रेनिंग पर भेज दिया है।
शहर में भीड़ बढ़ने लगी है और सोशल डिस्टेंसिंग के भी नियमों का पालन नहीं हो पा रहा। ऐसे में संक्रमण फैलने का भय बना हुआ है। संक्रमण फैलने पर मरीजों की बढ़ने वाली संख्या की आशंका के चलते हुए स्वास्थ्य विभाग ने भी अपने स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है। इसी के तहत पत्र भेजा गया है। इस पर एक्शन लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने सिरसा को दो नये वेंटीलेटर भेजने की मंजूरी दी। मंजूरी मिलने पर गुरुवार को सिरसा अस्पताल प्रशासन ने गाड़ी भेज दी है।

अभी तक 14 वेंटीलेटर उपलब्ध

नए वेंटीलेटर आने के बाद डॉक्टरों की भी जरूरत पड़ेगी ताकि इसका प्रयोग किया जा सके। इसलिए सिविल सर्जन डॉ. सुरेंद्र नैन ने अस्पताल के एक डॉक्टर को वेंटीलेटर संचालित करने की ट्रेनिंग के लिए भी भेज दिया है। जरूरत पड़ने पर डॉक्टर वेंटीलेटर का प्रयोग करेंगे। सिरसा में इस समय 14 वेंटीलेटर उपलब्ध हैं। दो नये वेंटीलेटर आने पर इनकी संख्या 16 हो जाएगी। उम्मीद है कि गुरुवार देर रात तक वेंटीलेटर सिरसा पहुंच जाएंगे।

पंजाब की ओर से पत्र आने का प्रशासन को इंतजार

हरियाणा सीमा के साथ लगते पंजाब के क्षेत्र किलियांवाली में कोरोना पॉजिटिव का नया केस सामने आया है। प्रोटोकॉल अनुसार जिस क्षेत्र में नया केस मिलता है, उसके पास के एरिया को कंटेनमेंट और बफर जोन घोषित किया जाता हालांकि पंजाब की ओर से औपचारिक पत्र जारी नहीं हुआ।

78 नये सैंपल भेजे, रैपिड किट से जांच 50 लोग

स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को 78 नये सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। अब तक कुल 693 सैंपल भेजे जा चुके हैं। इनमें से 579 की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। अब 101 सैंपल की रिपोर्ट का विभाग को इंतजार है। रैपिड किट से भी स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 50 लोगों की जांच की।

आशंकितों के सैंपल लगातार भेजे जा रहे हैं: सीएमओ

हमें दो नये वेंटीलेटर मिल जाएंगे। एक डॉक्टर को भी वेंटीलेटर संचालन की ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है। आशंकितों की जांच कर रहे हैं और सैंपल भी भेज रहे हैं।'' -डॉ. सुरेंद्र नैन, सिविल सर्जन, सिरसा।